टीओआई के विज्ञापन को खबर मान बैठा आईएनएस, कई वेबसाइटों ने चला दी 11 साल पुरानी खबर

टीओआई ने 3 अप्रैल, 2011, के अपने अंक को हुबहू बुधवार 5 अक्टूबर, 2022 को छाप दिया.

टीओआई के विज्ञापन को खबर मान बैठा आईएनएस, कई वेबसाइटों ने चला दी 11 साल पुरानी खबर
  • whatsapp
  • copy

टाइम्स ऑफ इंडिया के बुधवार अंक में विज्ञापन को खबर की तरह ऐसा लिखा गया कि आईएनएस न्यूज़ एजेंसी समझ नहीं पाई. एजेंसी ने आनन-फानन में विज्ञापन को ही ताजा खबर मानते हुए 11 साल पुरानी खबर को चला दिया.

दरअसल टीओआई ने 3 अप्रैल, 2011, के अपने अंक को हुबहू बुधवार 5 अक्टूबर, 2022 को छाप दिया. अखबार ने अपने पेज पर लिखा है कि यह एक विज्ञापन है, लेकिन न्यूज़ एजेंसी ने उस पर ध्यान नहीं दिया और 2जी मामले में सीबीआई द्वारा पूर्व कैबिनेट मंत्री ए राजा के खिलाफ दायर चार्जशीट की खबर को 11 साल बाद दोबारा ताजा खबर बता दिया.

अखबार में यह विज्ञापन ओरियो बिस्कुट की तरफ से दिया गया था. इस विज्ञापन में भारत को साल 2011 टी20 वर्ल्ड कप की तरह, इस महीने शुरू होने वाले टी20 वर्ल्ड कप को जीतने के लिए कहा गया है.

आईएनएस की इस खबर को सच मानकर बिजनेस स्टैंडर्ड, डीएनए, डेक्कन हेराल्ड, जी न्यूज जैसी वेबसाइट ने भी इसे खबर की तरह प्रकाशित कर दिया. हालांकि बाद में बिजनेस स्टैंडर्ड और डेक्कन हेराल्ड ने खबर को हटा दिया.

खुद आईएनएस न्यूज एजेंसी ने भी शाम को करीब 07.49 मिनट पर खबर को वापस ले लिया.

बता दें कि यह खबर सुबह लिखी गई थी, लेकिन खबर को वापस शाम को लिया गया, जब सोशल मीडिया पर लोगों ने एजेंसी के बारे में लिखना शुरू कर दिया.

आईएनएस न्यूज़ एजेंसी के एक कर्मचारी ने न्यूज़लॉन्ड्री को बताया कि, इस खबर को लिखने के लिए नेशनल डिप्टी ब्यूरो चीफ ने रिपोर्टर को कहा था.

Also see
मुख्यधारा की मीडिया के लिए सबसे ज्यादा खतरा खुद न्यूज़ चैनलों से ही- अनुराग ठाकुर
“हिंदी मुस्लिम लाओ, योगी- मोदी की आलोचना नहीं”: न्यूज़ नेशन के पत्रकार ने अपने इस्तीफे में कहा

Comments

We take comments from subscribers only!  Subscribe now to post comments! 
Already a subscriber?  Login


You may also like