राजदीप सरदेसाई को इंडिया टूडे ने किया दो सप्ताह के लिए ऑफ एयर

26 जनवरी को ट्रैक्टर मार्च के दौरन किसान की मौत को लेकर किया था ट्वीट.

Article image

वरिष्ठ पत्रकार और इंडिया टुडे के कंसल्टिंग एडिटर राजदीप सरदेसाई के खिलाफ चैनल ने एक ट्वीट को लेकर कार्रवाई की है. चैनल ने उन्हें दो सप्ताह के लिए ऑफ एयर करने का फैसला किया है.

राजदीप ने न्यूज़लॉन्ड्री को इस बारे में पूछे गए सवाल पर ‘सही है’ लिखकर जवाब दिया है. उन्हें चैनल ने ऑफ एयर करने के साथ ही एक महीने की सैलरी भी काट ली है.

किए गए ट्वीट को लेकर की गई है. इस ट्वीट के बाद वरिष्ठ पत्रकार ने अपने शो में भी उस दिन किसान की मौत को लेकर सरकार से कड़े सवाल पूछे थे.

imageby :

उनके इस शो के बाद से सोशल मीडिया पर लोग उन्हें ट्रोल भी कर रहे थे. हालांकि 27 जनवरी को आई पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद यह साफ हो गया था कि किसान की मौत पुलिस की गोली लगने से नहीं बल्कि ट्रैक्टर पलटने से लगी चोट के कारण हुई थी.

बेस्ट मीडिया इन्फो की खबर के मुताबिक, राजदीप के इस ट्वीट के बाद चैनल को गलत खबर फैलाने के लिए शर्मिदिगी का सामना करना पड़ा वहीं पत्रकार ने चैनल के बनाए गए सोशल मीडिया पॉलिसी का भी उल्लंघन किया है.

बता दें कि अक्टूबर 2020 में इंडिया टुडे ने अपने कर्मचारियों के लिए सोशल मीडिया पर क्या लिखना है, क्या शेयर करना और क्या नहीं, इसको लेकर एक अंतरिम सोशल मीडिया एडवाइजरी जारी की थी.

इस एडवाइजरी में साफ कहा गया था कि, इन नियमों के उल्लंघन पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी, जो नौकरी से निकालने तक हो सकती है. हालांकि कंपनी एचआर द्वारा जारी की गई एडवाइजरी को दो महीने तक के लिए प्रभावी कहा गया था.

Also see
article imageकिसान और सबसे लायक बेटे के कारनामें
article imageरिपोर्टर की डायरी: 26 जनवरी को जो कुछ हुआ वो ऐतिहासिक था या कलंक?
article imageकिसान और सबसे लायक बेटे के कारनामें
article imageरिपोर्टर की डायरी: 26 जनवरी को जो कुछ हुआ वो ऐतिहासिक था या कलंक?

वरिष्ठ पत्रकार और इंडिया टुडे के कंसल्टिंग एडिटर राजदीप सरदेसाई के खिलाफ चैनल ने एक ट्वीट को लेकर कार्रवाई की है. चैनल ने उन्हें दो सप्ताह के लिए ऑफ एयर करने का फैसला किया है.

राजदीप ने न्यूज़लॉन्ड्री को इस बारे में पूछे गए सवाल पर ‘सही है’ लिखकर जवाब दिया है. उन्हें चैनल ने ऑफ एयर करने के साथ ही एक महीने की सैलरी भी काट ली है.

किए गए ट्वीट को लेकर की गई है. इस ट्वीट के बाद वरिष्ठ पत्रकार ने अपने शो में भी उस दिन किसान की मौत को लेकर सरकार से कड़े सवाल पूछे थे.

imageby :

उनके इस शो के बाद से सोशल मीडिया पर लोग उन्हें ट्रोल भी कर रहे थे. हालांकि 27 जनवरी को आई पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद यह साफ हो गया था कि किसान की मौत पुलिस की गोली लगने से नहीं बल्कि ट्रैक्टर पलटने से लगी चोट के कारण हुई थी.

बेस्ट मीडिया इन्फो की खबर के मुताबिक, राजदीप के इस ट्वीट के बाद चैनल को गलत खबर फैलाने के लिए शर्मिदिगी का सामना करना पड़ा वहीं पत्रकार ने चैनल के बनाए गए सोशल मीडिया पॉलिसी का भी उल्लंघन किया है.

बता दें कि अक्टूबर 2020 में इंडिया टुडे ने अपने कर्मचारियों के लिए सोशल मीडिया पर क्या लिखना है, क्या शेयर करना और क्या नहीं, इसको लेकर एक अंतरिम सोशल मीडिया एडवाइजरी जारी की थी.

इस एडवाइजरी में साफ कहा गया था कि, इन नियमों के उल्लंघन पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी, जो नौकरी से निकालने तक हो सकती है. हालांकि कंपनी एचआर द्वारा जारी की गई एडवाइजरी को दो महीने तक के लिए प्रभावी कहा गया था.

Also see
article imageकिसान और सबसे लायक बेटे के कारनामें
article imageरिपोर्टर की डायरी: 26 जनवरी को जो कुछ हुआ वो ऐतिहासिक था या कलंक?
article imageकिसान और सबसे लायक बेटे के कारनामें
article imageरिपोर्टर की डायरी: 26 जनवरी को जो कुछ हुआ वो ऐतिहासिक था या कलंक?

Comments

We take comments from subscribers only!  Subscribe now to post comments! 
Already a subscriber?  Login


You may also like