रोज़नामचा: बिहार में नौवीं बार नीतीश कुमार ने ली मुख्यमंत्री पद की शपथ

हिंदी के प्रमुख अखबारों की रोजाना सुर्खियों का एक जायजा.

नीतीश कुमार

हिंदी के प्रमुख अखबारों ने आज ज्यादातर एक ही ख़बर- को प्राथमिकता से छापा है. सभी अख़बारों ने बिहार में हुए घटनाक्रम के बाद नीतीश कुमार ने राष्ट्रीय जनता दल का साथ छोड़ भारतीय जनता पार्टी के साथ मिलकल सरकार बनाई है. नीतीश ने नौवी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली है.

आइए आज के प्रमुख अखबारों की अन्य सुर्खियों पर भी एक नज़र डालते हैं. लेकिन उससे पहले अगर आप रोज़नामचा को अपने ई-मेल पर पाना चाहते हैं तो यहां क्लिक करें.

हिंदुस्तान अख़बार ने बिहार में नौवीं बार नीतीश सरकार शीर्षक के साथ पहली ख़बर प्रकाशित की है. ख़बर में बताया गया है कि सम्राट चौधरी और विजय सिन्हा उपमुख्यमंत्री बने, मुख्यमंत्री के साथ आठ मंत्रियों ने भी शपथ ली है.

अख़बार लिखता है, बिहार में रविवार को महागठबंधन सरकार की विदाई हो गई. नीतीश कुमार के नेतृत्व में छठी बार एनडीए सरकार का गठन हुआ. शपथ लेने के बाद नीतीश ने दावा किया कि राजग छोड़कर अब उनके कहीं और जाने का सवाल ही नहीं है. पीएम मोदी और तेजस्वी यादव के बयान को भी छापा है. जहां पीएम मोदी ने कहा कि लोगों की आकांक्षाएं पूरी करेगा एडीए गठबंधन तो वहीं तेजस्वी ने कहा कि जदयू इसी वर्ष समाप्त हो जाएगी.

इसके अलावा अख़बार ने जनता विश्वासघात को माफ नहीं करेगी, खड़गे, दलबदल कानून की समीक्षा होगी, शंखनाद धुन के साथ आज बीटिंग रिट्रीट और ईरान ने तीन उपग्रहों का प्रक्षेपण किया आदि अख़बरों को भी अख़बार ने पहले पन्ने पर जगह दी है.

दैनिक जागरण अख़बार ने भी पहले पन्ने पर बिहार की ख़बर को ही प्राथमिकता से छापा है. ख़बर का शीर्षक है, 'बिहार में सीएम वही, सरकार नई'. सबहेड में लिखा है, अटकलों को विराम, महागठबंधन से अलग होकर नीतीश कुमार ने राजग के साथ फिर बनाई सरकार. भाजपा विधायक दल के नेता सम्राट चौधरी और विजय कुमार सिन्हा बने उप मुख्यमंत्री.

अख़बार आगे लिखता है, कई दिनों से चल रही अटकलों के बाद आखिरकार रविवार सुबह नीतीश कुमार ने मुख्यमंत्री पद से त्याग पत्र दे दिया और शाम को मुख्यमंत्री पद की नौवीं बार शपथ भी ले ली. इस तरह 17 महीने की महागठबंधन सरकार का अंत हो गया.

इसके अलावा पीएम मोदी और तेजस्वी यादव के बयान को भी प्रमुखता से छापा गया है.

अमर उजाला अख़बार ने भी पहले पन्ने पर नीतीश कुमार नौवीं बार बने सीएम, को ही पहली ख़बर के रूप में चुना है. ख़बर का शीर्षक है, राजग में लौटे नीतीश, 9वीं बार बने सीएम.

सेब हेड में लिखा है सुबह इस्तीफा, शाम पांच बजे ली शपथ. नीतीश बोले, हम जहां थे वहीं आ गए हैं... अब इधर उधर जाने का सवाल नहीं. राजद को झटका... 18 महीने भी नहीं चल सकी गठबंधन सरकार.

अख़बार आगे लिखता है, नीतीश कुमार ने राष्ट्रीय जनता दल और कांग्रेस के साथ साथ पूरे विपक्षी गठबंधन को झटका देते हुए रविवार को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया. इसके साथ ही 18 महीने से कम समय में बिहार में महागठबंधन सरकार गिर गई. हालांकि चंद घंटे बाद ही शाम करीब पांच बजे नीतीश ने भाजपा के साथ मिलकर राज्य में दोबारा सरकार बना ली और रिकॉर्ड नौवीं बार राज्य के मुख्यमंत्री बन गए.

इसके अलावा जॉर्डन में अमेरिकी बेस पर हमले में तीन सैनिकों की मौत 25 घायल, बर्फीली ठंड जारी, कोहरे से 77 ट्रेनें 295 उड़ानें प्रभावित, सशक्त न्याय व्यवस्था ने लोकतंत्र को मजबूत किया, यह विकसित भारत का आधार: मोदी, तेज रफ्तार कार ने पांच नेपालियों को रौंदा, चार की मौत चार घायल, कालकाजी मंदिर में जागरण के दौरान मंच गिरने से महिला की मौत, 17 घायल, दादी को कुर्सी से उठाया, दूल्हा गुस्साया... पांच घंटे में ही तलाक, मालदीव की संसद में चले लात-घूंसे आदि ख़बरों को भी अख़बार ने पहले पन्ने पर जगह दी है.

जनसत्ता अख़बार ने भी नीतीश कुमार से जुड़ी ख़बर को ही पहली सुर्खी बनाया है. ख़बर का शीर्षक है, नीतीश कुमार का पलटना.

अख़बार लिखता है, महागठबंधन का साथ छोड़कर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार रविवार को राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के साथ हो लिए. बिहार में उन्होंने भाजपा के सहयोग से सरकार बनाई और नौवीं बार मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली. ठीक 17 महीने पहले भाजपा का साथ छोड़कर उन्होंने राजद का हाथ थामा था और सरकार बनाई थी.

अख़बार ने पीएम मोदी, तेजस्वी यादव, जेपी नड्डा, जयराम रमेश और लालू यादल की बेटी रोहिणी आचार्य के बायान को भी छापा है.

इसके अलावा हरियाणा की नहर से एसपी के बेटे का शव बरामद, मुख्य आरोपी पकड़ा गया, खरगे ने सीट बंटवारे पर कहा, इंडिया के कुछ घटक दलों से बनी है कांग्रेस की सहमति, हरियाणा विधानसभा चुनाव में अपने बूते लड़ेंगे केजरीवाल और अपने बूते बहुमत नहीं फिर भी नीतीश बनाते हैं सरकार आदि ख़बरों को भी अख़बार ने पहले पन्ने पर जगह दी है.

दैनिक भास्कर अख़बार ने भी नीतीश कुमार से जुड़ी ख़बर को ही पहली सुर्खी बनाया है. ख़बर का शीर्षक है, गजबे 'सरकार' ...राज बदला न रिवाज.

बिहार की राजनीति में रविवार को जो भी हुआ, उसकी पटकथा तैयार थी. सीएम नीतीश कुमार ने पहले पार्टी विधायक दल की बैठक की. राजभवन गए. सुबह 11 बजे त्याग-पत्र सौंपा. फिर जदयू, भाजपा, हम के विधायकों की बैठक में एनडीए के नेता चुने गए. फिर राजभवन गए और सरकार बनाने का दावा पेश किया. पूरी कवायद में छह घंटे लगे और शाम पांच बजे एनडीए गठबंधन की सरकार के मुख्यमंत्री के रूप में नीतीश कुमार ने राजभवन में शपथ ली.

इसके अलावा माराठा आरक्षण: अधिसूचना जारी होने के बाद भी अड़े जरांगे- पाटिल बोले- जब तक रिश्तेदारों को कुणाबी प्रमाण पत्र नहीं, तब तक जारी रहेगा आंदोलन, 24 साल से किसान को मुआवजे का इंतजार. मालदीव: भारत विरोधी राष्ट्रपति के समर्थक, विपक्षी सांसद सदन में भिड़े, यूजीसी के मसौदे पर शिक्षा मंत्रालय की सफाई... आरक्षित पद पर सामान्य वर्ग की भर्ती नहीं कर सकते: सरकार, बड़े फ्लैट आ रहे पसंद शीर्ष शहरों में 11 प्रतिशत बढ़ा औसत आकार, अगले कुछ दशकों में बदलेगा पारिवारिक ढांचा... आकार 35 फीसदी तक घटेगा, चचेरे और ममेरे भाई-बहन कम होंगे बुजुर्ग सदस्य बढ़ेंगे: स्टडी आदि ख़बरों को भी अख़बार ने पहले पन्ने पर जगह दी है.

Also see
article imageअयोध्या: बड़े-बड़े मंच, अखंड कवरेज और भगवा झंडे लहराता मेनस्ट्रीम मीडिया
article imageनाटक में पीएम मोदी और सरकार की आलोचना, केरल हाईकोर्ट के दो अधिकारी निलंबित

Comments

We take comments from subscribers only!  Subscribe now to post comments! 
Already a subscriber?  Login


You may also like