रोज़नामचा: नए संसद भवन में प्रवेश और महिला आरक्षण बिल बनी आज की सुर्खियां

हिंदी के प्रमुख अख़बारों की रोज़ाना सुर्खियों का एक जायजा.

Article image
  • Share this article on whatsapp

हिंदी के प्रमुख अख़बारों ने आज एक नहीं अलग-अलग ख़बरों को प्रमुख सुर्खी बनाया है. कुछ अख़बारों ने नए संसद भवन में प्रवेश तो कुछ ने महिला आरक्षण बिल लाने को प्रमुख सुर्खी बनाया है. 

आइए आज के प्रमुख अख़बारों की अन्य सुर्खियों पर भी एक नजर डालते हैं, लेकिन उससे पहले अगर आप रोज़नामचा को अपने ई-मेल पर पाना चाहते हैं तो यहां क्लिक करें.

अमर उजाला ने पुराने संसद से अलविदा और नए संसद भवन में प्रवेश की ख़बर को पहली सुर्खी बनाया है. अख़बार ने लिखा कि गणेश चतुर्थी के शुभ अवसर पर देश के संसदीय इतिहास में नया अध्याय जुड़ गया है. मंगलवार से नए संसद भवन में संसदीय कामकाज शुरू हो गया. ख़बर के मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सुझाव पर अब पुराने संसद भवन का नाम ‘संविधान सदन’ होगा.

अख़बार ने नए संसद भवन में कामकाज शुरू होने के पहले दिन ही महिला आरक्षण बिल पेश किए जाने की ख़बर को दूसरी सुर्खी बनाया है. ख़बर के मुताबिक, कानून मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने मंगलवार को लोकसभा में महिला आरक्षण बिल पेश किया. विधेयक में लोकसभा और राज्य विधानसभा चुनावों में महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण देने की बात की गई है. बुधवार को चर्चा के बाद विधेयक पारित होने की संभावना है, क्योंकि लगभग पूरा विपक्ष इसके समर्थन में है. 

इसके अलावा खालिस्तानी समर्थक हरदीप सिंह निज्जर की हत्या को कनाडा के प्रधानमंत्री ने भारत की साजिश बताया तो भारत ने बयान को आधारहीन व बेतुका कहा, जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में आतंकी सर्च ऑपरेशन खत्म, कर्नाटक हाईकोर्ट ने केंद्र सरकार को दिया सुझाव कि सोशल मीडिया के इस्तेमाल के लिए तय हो उम्र सीमा और राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी ने इंजीनियरिंग, मेडिकल और व्यावसायिक कोर्स में दाखिले के लिए की तिथियों की घोषणा आदि ख़बरों को भी अख़बार ने पहले पन्ने पर जगह दी है. 

हिंदुस्तान ने मंगलवार से नए संसद भवन में कामकाज शुरू होने की ख़बर को सुर्खी बनाया है. अख़बार ने लिखा कि देश के लिए मंगलवार का दिन ऐतिहासिक रहा. सांसदों ने संसद के नए भवन में प्रवेश किया. इससे पहले पुरानी संसद के केंद्रीय कक्ष में राज्यसभा और लोकसभा की संयुक्त बैठक को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संबिधित किया. इसके बाद मंत्रिपरिषद के सदस्य और सांसद पैदल चलकर नए संसद भवन पहुंचे. ख़बर के मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नए भवन के पहले भाषण में कहा कि यह अमृतकाल का ऊषाकाल है, भारत नए भवन में भविष्य तय करने के लिए आगे बढ़ रहा है. 

अख़बार ने संसद के विशेष सत्र के पहले दिन महिला आरक्षण बिल पेश होने की ख़बर को प्रमुखता दी है. अख़बार ने लिखा कि नए संसद भवन की लोकसभा में केंद्र सरकार ने लोकसभा, राज्य विधानसभाओं और दिल्ली विधानसभा में महिलाओं को एक तिहाई आरक्षण देने वाला ‘नारी शक्ति वंदन विधेयक’ पेश कर दिया. ख़बर के मुताबिक, विधेयक में फिलहाल15 वर्षों के लिए आरक्षण का प्रावधान किया गया है, पर संसद को इसे आगे बढ़ाने का अधिकार है. 

इसके अलावा उपराष्ट्रपति और राज्यसभा के सभापति जगदीप धनखड़ ने कहा कि नए संसद भवन में आने के बाद संसदीय कामकाज को बाधित करने की रणनीति खत्म हो, पुराना संसद भवन ‘संविधान सदन’ के रूप में जाना जाएगा, भारत ने दिल्ली में तैनात कनाडा के राजनयिक को पांच दिन में देश छोड़ने का आदेश दिया, जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में आतंकी सर्च ऑपरेशन खत्म, नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने मंगलवार को जेईई प्रवेश परीक्षा की तिथि घोषित की, कर्नाटक हाईकोर्ट की सलाह- सोशल मीडिया यूजर की उम्र सीमा तय हो, दिल्ली हाईकोर्ट ने सेना के सशस्त्र बलों में लैंगिक समानता की वकालत की, नूंह हिंसा मामले में गिरफ्तार कांग्रेस विधायक मामन खान को न्यायिक हिरासत में भेजा गया और कोटा की नीट अभ्यर्थी की मौत के बाद कोचिंग सेंटर पर मुकदमा आदि ख़बरों को भी अख़बार ने प्रमुखता दी है.

subscription-appeal-image

Support Independent Media

The media must be free and fair, uninfluenced by corporate or state interests. That's why you, the public, need to pay to keep news free.

Contribute
imageby :

 दैनिक जागरण ने केंद्र सरकार द्वारा संसद के विशेष सत्र के पहले दिन महिला आरक्षण बिल पेश करने की ख़बर को पहली सुर्खी बनाया है. अख़बार ने लिखा कि संसद के नए भवन में पहला कदम महिलाओं के लिए उठा है. ख़बर के मुताबिक, केंद्र सरकार ने लोकसभा में ‘नारी शक्ति वंदन अधिनियम’ के नाम से महिला आरक्षण विधेयक पेश कर दिया. बता दें कि लोकसभा और राज्य विधानसभा चुनावों में महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण देने के लिए यह बिल लाया गया है. 

अख़बार ने पुराने संसद भवन से अलविदा कर नए संसद भवन में प्रवेश होने की ख़बर को भी प्रमुखता दी है. अख़बार ने लिखा कि एक तरफ पुराने संसद भवन को छोड़ने का गम है, वहीं दूसरी तरफ नए संसद में प्रवेश करने की खुशी भी है. दोनों भावनाओं को सांसदों के चेहरे पर साफ देखा जा सकता था. ख़बर के मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सत्तापक्ष के सांसद ‘वंदे मातरम्’ और ‘भारत माता की जय’ कहते हुए पुराने भवन को अलविदा कहे. वहीं, कांग्रेस सांसद अधीर रंजन के नेतृत्व में विपक्षी दल के सांसद नए भवन की तरफ रवाना हुए. 

इसके अलावा कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रूडो का आरोप कि भारतीय एजेसियों ने कराई खालिस्तान समर्थक हरदीप सिंह निज्जर की हत्या तो भारत ने आरोप को बताया बेतुका, विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) की घोषणा- अगले वर्ष 15 से 31 मई तक होगी सीयूईटी-यूजी, 156 घंटे बाद जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में सेना और आतंकियों के बीच मुठभेड़ खत्म- लश्कर कमांडर समेत दो आतंकी ढेर, उपराष्ट्रपति और राज्यसभा के सभापति जगदीप धनखड़ ने कहा कि संसदीय कामकाज के व्यवधान को राजनीतिक हथियार न बनाएं, कर्नाटक हाईकोर्ट ने केंद्र को दिया सुझाव कि इंटरनेट यूजर के लिए तय हो उम्र की सीमा, आरबीआई ने कहा कि सितंबर में खुदरा महंगाई दर में आ सकती है कमी और अयोध्या के राम मंदिर में लगने वाले द्वार को स्वर्ण मंडित करने की तैयारी आदि ख़बरों को भी अख़बार ने पहले पन्ने पर जगह दी है. 

जनसत्ता ने केंद्र सरकार द्वारा संसद के विशेष सत्र में महिला आरक्षण बिल पेश किए जाने को पहली सुर्खी बनाया है. अख़बार ने लिखा कि महिलाओं को 33 फीसद आरक्षण देने के लिए केंद्रीय विधि एवं न्याय मंत्री अर्जुनराम मेघवाल  ने मंगलवार को ‘नारी शक्ति वंदन विधेयक’ लोकसभा में पेश किया. ख़बर के मुताबिक, नए संसद भवन में पेश होने वाला यह पहला बिल है. ख़बर के मुताबिक, इसे लागू करने से पहले जनगणना और परिसीमन होगा. 

अख़बार ने मंगलवार को राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे के भाषण की ख़बर को दूसरी सुर्खी बनाया है. ख़बर के मुताबिक, खड़गे ने आरोप लगाया कि मौजूदा सरकार में देश की संघीय ढांचा दिनों- दिन कमजोर होता जा रहा है. साथ ही उन्होंने केंद्र सरकार को विपक्ष के साथ मिलकर काम करने की नसीहत भी दी है.

इसके अलावा कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने खालिस्तानी समर्थक हरदीप सिंह निज्जर की हत्या के लिए भारत को जिम्मेदार ठहराया,  भारत ने दिल्ली में तैनात कनाडा के राजनयिक को निष्कासित किया और नए संसद भवन में पहुंचीं महिला खिलाड़ी और कलाकार आदि ख़बरों को भी अख़बार ने पहले पन्ने पर जगह दी है. 

imageby :

दैनिक भास्कर ने कनाडा में भारत विरोधी घटनाएं होने की ख़बर को पहली सुर्खी बनाया है. अख़बार ने लिखा कि कनाडा में 20 लाख भारतवंशियों के बीच प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो के बयान को लेकर गुस्सा है. उनका यह बयान हास्यास्पद है. ख़बर के मुताबक, पिछले एक साल में कनाडा में 15 भारत विरोधी घटनाएं हो चुकी हैं. इनमें 9 सभाएं, खालिस्तान के समर्थन में दो रेफरेंडम और चार मंदिरों पर हमले की घटनाएं शामिल हैं. 

अख़बार ने जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग के गडूल कोकेरनाग जंगलों में सेना की आतंकियों के साथ मुठभेड़ खत्म होने की ख़बर को दूसरी सुर्खी बनाया है. अख़बार ने लिखा कि फायरिंग रुकने के बाद सुरक्षाबलों ने इलाके में तलाशी अभियान चलाया. ख़बर के मुताबिक, मुठभेड़ में मारे गए दो आतंकियों में लश्कर-ए-तैयबा के कमांडर उज्जैर खान भी शामिल है. उज्जेर पर 10 लाख रुपय का इनाम था. अब उसका शव बरामद किया गया है. 

इसके अलावा पाकिस्तान के पूर्व पीएम नवाज शरीफ ने अपनी पार्टी के नेताओं से कहा कि पाकिस्तान दुनिया से पैसा मांग रहा और भारत चांद पर पहुंच गया, कर्नाटक हाई कोर्ट ने सरकार को सोशल मीडिया यूजर की उम्र सीमा तय करने की सलाह दी आदि ख़बरों को भी अख़बार ने पहले पन्ने पर जगह दी है.  

अगर आप रोज़नामचा को अपने ई-मेल पर पाना चाहते हैं तो यहां क्लिक करें.

Also see
article imageरोज़नामचा: पुराने संसद भवन को विदाई और महिला आरक्षण बिल को केंद्रीय कैबिनेट की मंजूरी
article imageरोज़नामचा: पुराने संसद भवन को विदाई और महिला आरक्षण बिल को केंद्रीय कैबिनेट की मंजूरी

You may also like