जी 20 समिट प्राइम टाइम: किस चैनल ने क्या दिखाया

न्यूज़ चैनलों के प्राइम टाइम की एक पड़ताल.

Article image
  • Share this article on whatsapp

भारत में आयोजित जी 20 का समापन हो गया है. भारतीय मीडिया ने इस आयोजन की शुरुआत से ही नॉन स्टॉप कवरेज की है, जो अभी भी जारी है. हमने मुख्य चैनलों के प्राइम टाइम शो की पड़ताल की है. जानिए किस चैनल ने क्या दिखाया.

शुरुआत आज तक के प्राइम टाइम शो ‘हल्ला बोल’ से करते हैं, जिसे एंकर अंजना ओम कश्यप होस्ट करती हैं.

आज तक-  हल्ला बोल 

अंजना शो की शुरुआत में ही कहती हैं कि जब जी-20 समिट के विमान ने अपनी उड़ान भरी थी तो सबने ये कहा था मौसम ख़राब है अपनी पेटियां बांध लीजिए. क्योंकि आने वाले वक्त में टर्बुलेंस हो सकता है और इसकी वजह से हो सकता है कि कंसेंसस न बने, और कोई भी ज्वाइंट डिक्लेरेशन नहीं हो पाए. लेकिन पीएम मोदी के नेतृत्व ने एक ऐसा कंसेंसस बनाया कि पहले ही दिन जी-20 समिट इतना सफल रहा कि हम नई दिल्ली लीडर्स डेकलेरेशन लाने में सफल रहे.

वह आगे कहती हैं कि एक बात साफ है यदि इच्छाशक्ति हो तो उसी के साथ आगे बढ़ा जा सकता है और पीएम मोदी के नेतृत्व में भारत ने वह कमाल कर दिया है. जी-20 के विश्व मंथन में हम विश्व विजेता बनकर निकले हैं. क्योंकि हमने एक ऐसे वक्त पर जब वाकई मौसम खराब था. जब वाकई कोविड और उसके बाद से रूस-यूक्रेन की जंग की वजह से पूरा विश्व दो हिस्सों में बंटा हुआ था. ऐसे वक्त पर हमने बिल्कुल विपरित ओपिनियन रखने वाले देशों को एकजुट किया. 

इसके बाद अंजना एक रिपोर्ट दिखाती हैं कि कैसे विश्व में बजा है मोदी का डंका. इस रिपोर्ट में जी 20 में क्या क्या हुआ वह सब बताया गया. इस रिपोर्ट में ग्राउंड पर मौजूद रिपोर्टर जी 20 की उपलब्धियां बताते नजर आए.

रिपोर्ट के बाद पैनल डिस्कशन हुआ जिसमें जेजे भारद्वाज - संपादक ऑस्ट्रेलिया टुडे, दर्शन सिंह नेगी- सदस्य कंजरवेटिव पार्टी, नूपुर तिवारी - पत्रकार, विवेक काटजू - पूर्व सचिव एमईए, जितेंद्र नाथ मिश्रा - पूर्व राजदूत, राजीव डोगरा - पूर्व राजदूत और विभूति झा - जयपुर डायलॉग, यूएस से जुड़े थे.

एबीपी न्यूज़ - हुंकार

एबीपी न्यूज़ के प्राइम टाइम शो ‘हुंकार’ को शीरीन शेरी होस्ट करती हैं. यह शो भी पूरी तरह से जी 20 के ही नाम रहा. एंकर कहती हैं कि दो दिनों तक पूरी दुनिया की नज़र भारत पर टीकी रही. रूस और यूक्रेन युद्ध के मुद्दे पर आशंका थी की जी-20 के देश एकजुट नहीं होंगे. लेकिन भारत ने यूद्ध के मुद्दे पर रूस और पश्चिमी देशों के बीच 100 प्रतिशत सर्वसम्मति बना दी. किसी ने जरा भी विरोध नहीं किया. 

एंकर आगे कहती हैं भारत की अध्यक्षता में सबसे ज्यादा नतीजों पर जी-20 के नेता पहुंचे. सबसे ज्यादा मुद्दों पर सहमति बन पाई. अफ्रीकन यूनियन को जोड़कर भारत ने ग्लोबल साउथ की आवाज को बुलंद किया है. भारत -मिडिल ईस्ट और यूरोप कनेक्टिविटी कोरिडोर के जरिए चीन की विस्तारवादी सोच पर भी जबरदस्त प्रहार किया. ये मुख्य रूप से भारत की अध्यक्षता में जी-20 की उपलब्धियां हैं. जी-20 का दिल्ली सम्मेलन शान व शौकत, मेहमान नवाजी और दुनिया को भारत की संस्कृति से रूबरू कराने के लिए भी जाना जाएगा. कैसे मोदी मैजिक छाया और भारत ने इतिहास बनाया. 

इसके बाद एंकर कुछ झलकियां दिखाती हैं. इस दौरान मीटिंग की कुछ तस्वीरें और जी 20 में क्या क्या हुआ वह सब दिखाया गया. 

एंकर कुछ देर बाद केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव को चैनल पर जोड़ती हैं और सवाल करती हैं, सफल समिट से पड़ोसी मुल्कों को जो भारत की तरफ गलत तरीके से निगाहें उठा कर देखते हैं इससे क्या मेसेज गया है?

हुंकार के पैनल में अचल मल्होत्रा पूर्व राजनियक, पूर्व मेजर जनरल एसपी सिन्हा, गौरी द्विवेदी वरिष्ठ पत्रकार, स्वास्ति राव एसोसिएट फेलो आइटीएसए और केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव शामिल हुए.

शो का अंत कुछ यूं होता है- और यहां पर फिर एक बार साबित हो गया कि पीएम मोदी कुछ वादा करते हैं तो उसे पूरा भी करते हैं. 

ज़ी न्यूज़ कसम संविधान की 

ज़ी न्यूज़ पर दीपक चौरसिया ‘कसम संविधान की’ शो करते हैं. इस प्राइम टाइम शो में रविवार को दीपक चौरसिया कहते हैं, ज़ी 20 के सफल आयोजन पर कुछ देर पहले पीएम मोदी सामने आए और उन्होंने भारत मंडपम के मीडिया सेंटर में पत्रकारों का हाथ हिलाकर अभिवादन किया. इससे पहले ज़ी-20 की बैठक में जो बड़े फैसले हुए उन्होंने पूरी दुनिया के सामने नए भारत की नई शक्ति का एहसास कराया है. 

पीएम मोदी के वसुधैव कुटुंबकम के नारे की आज पूरी दुनिया में चर्चा है. उसके जरिए पूरी दुनिया को एक सूत्र में बांधने का लक्ष्य तय किया गया है. भारत से लेकर यूरोप तक इकॉनिमक कोरिडोर और बाद में इसे अमेरिका तक बढ़ाना और इसके अलावा अफ्रिकी यूनियन को जी-20 में शामिल कराना भी भारत की बड़ी कामयाबी बताया जा रहा है. कुल मिलाकर जी-20 के आयोजन को सफल माना जा रहा है. 

शो में ‘इंडिया’ गठबंधन के नेताओं के शामिल होने पर एंकर कहते हैं कि क्या इस गठबंधन में सबकुछ सही नहीं है.

दरअसल सरकार ने सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों को न्योता भेजा था. कार्यक्रम में कांग्रेस से हिमाचल प्रदेश के सीएम सुखविंदर सिंह सुक्खू, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, तमिलनाडु के एमके स्टालिन और झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन ने हिस्सा लिया.

इस दौरान पीएम मोदी ने इन तमाम नेताओं को अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन समेत सभी देशों के नेताओं से रूबरू कराया. ऐसे में एंकर कहते हैं कि चर्चा गर्म है कि क्या इंडिया गठबंधन में सबकुछ सही नहीं है. सवाल इसलिए भी उठ रहे हैं क्योंकि आयोजन के दौरान कांग्रेस ने विरोध के सूर बुलंद किए थे. जबकि इंडिया गठबंधन के बाकी दलों ने कोई खास प्रतिक्रिया नहीं दी थी. ऐसे में सवाल ये भी है कि डिनर डिप्लोमेसी में पीएम मोदी ने खेला तो नहीं कर दिया. 

एंकर एक पैनल के साथ शो को आगे बढ़ाते हैं. पैनल में भाजपा प्रवक्ता अजय आलोक, एके वाजपेयी प्रवक्ता एलजेपी(आर), अभिषेक झा प्रवक्ता जदयू और कांग्रेस प्रवक्ता अभय दुबे शामिल हुए.

टाइम्स नाउ नवभारत - सवाल पब्लिक का

टाइम्स नाउ नवभारत पर एंकर नविका कुमार ‘सवाल पब्लिक का’ प्राइम टाइम शो करती हैं. इसमें एंकर नविका कुमार ने केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव से जी 20 सम्मेलन के दो सबसे बड़े पहलू- ‘भारत की डिजिटल परफॉरमेंस और भारत मिडिल ईस्ट और यूरोप बन रहे इकोनॉमिक कॉरिडोर’ पर चर्चा की, जिसपर अश्विनी वैष्णव ने वन फ्यूचर अलायंस के माध्यम से एक अच्छा कॉम्प्रिहेंसिव प्लेटफॉर्म बनाने को कहा जिससे दुनिया भर में डिजिटल के डिजिटल पब्लिक इंफ्रास्ट्रक्चर को इम्प्लीमेंट किया जा सके. 

दरअसल इस पूरे शो में एंकर नविका कुमार केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव से सवाल पूछती नजर आती हैं. सभी सवालों का केंद्र बिंदु जी 20 समिट ही रहता है. 

न्यूज़ 18 इंडिया -  ये देश है हमारा 

न्यूज़ 18 इंडिया के प्राइम टाइम शो ये देश है हमारा में एंकर अमिश देवगन ने ब्रिटेन के पीएम ऋषि सुनक के हिन्दू प्रेम वाले बयान और इसी पर विपक्ष गठबंधन परेशान होने पर डिबेट की. एंकर बताते हैं कि ऋषि सुनक ने कहा है, आज मैं बतौर प्रधानमंत्री नहीं बतौर हिन्दू आया हूं तो वहीं गुलाम नबी आजाद ने भी कहा है की हम सब पहले सनातनी थे हमने धर्म परिवर्तन किया है. 

इस डिबेट में हिंदू धर्म गुरु देवकी नंदन ठाकुर ने हिस्सा लिया था. ठाकुर सुनक के बयान की तारीफ करते हुए कहते हैं कि आखिरकार हम सब ने मान लिया कि हमारा डीएनए एक ही है. वह औरंगजेब पर कहते हैं कि उसने जिस कृष्ण मंदिर को तोड़ कर कृष्ण को जामा मस्जिद की सीढ़ियों में गाड़ा है उसे जांच करने दें और अगर ऐसा है तो उसे हमें दे दे. इस दौरान समाजवादी पार्टी के नेता स्वामी प्रसाद मौर्या के कथित भड़काऊ बयान की चर्चा भी की.

इस शो में गेस्ट के तौर पर देवकी नंदन ठाकुर, सुधांशु त्रिवेदी और शादाब चौहान ने हिस्सा लिया. 

रिपब्लिक भारत - ये भारत की बात है

रिपब्लिक भारत के प्राइम टाइम शो ये भारत की बात है में एंकर सैयद सुहैल ने कहा कि आज दुनिया मोदी द वर्ल्ड लीडर (विश्व गुरु) के बारे में बात कर रही है. शो में जी 20 सम्मेलन के डिनर की चर्चा की गई. बताया गया कि दुनिया में पीएम मोदी की भूमिका बड़ी हो गई है. जी 20 में आए मेहमानों ने भारत और मोदी के बारे में क्या कहा उनके बयानों को दिखाया गया. 

शो में आगे बताया गया कि पूरी दुनिया के अखबारों में सिर्फ भारत छप रहा था क्योंकि उनके नेता यहां थे और इस पर हैरानी भी जता रहे हैं कि आखिर मोदी संग सभी नेताओं कि सर्व सहमति कैसे बनी. आगे-आगे मोदी पीछे-पीछे दुनिया का प्रचार हो रहा है. 

टीवी 9 भारतवर्ष - सुपर प्राइम टाइम

टीवी 9 भारतवर्ष के प्राइम टाइम शो सुपर प्राइम टाइम में एंकर प्रतिमा मिश्रा ने रूस और यूक्रेन के बीच चल रहे युद्ध के बारे में बात की. उन्होंने बताया की अमेरिका के दो बड़े दुश्मनों की मुलाकात होने वाली है. उत्तर कोरिया के राष्ट्रपति किम जोंग उन रूस की यात्रा पर जा रहे हैं जहां उनकी मुलाकात पुतिन से होगी. इस मुलाकात के दौरान कई बड़े समझौते सकते हैं. 

इसके अलावा मोरक्को में आए भूकंप से हुए विनाश की खबर भी दिखाई गई. जहां अब भी मातम है, बचाव का कार्य जारी है. हजारों लोग बेघर और लाचार होकर आसमान के नीचे रात बिताने को मजबूर हैं.

subscription-appeal-image

Support Independent Media

The media must be free and fair, uninfluenced by corporate or state interests. That's why you, the public, need to pay to keep news free.

Contribute
Also see
article imageराजा भैया की साली ने पत्रकार अभिषेक उपाध्याय और अन्य के खिलाफ दी शिकायत
article imageक्या सरकारी किताबों को कबाड़ में बेचे जाने का वीडियो बनाने वाले पत्रकार पर हुई एफआईआर?

You may also like