नई सुबह, नई शुरुआत: न्यूज़लॉन्ड्री और द न्यूज़ मिनट साथ-साथ

यह साझेदारी जनहित की पत्रकारिता की दिशा में एक बेहतर और प्रासंगिक मीडिया संस्थान खड़ा करने की शुरुआत है.

Article image
  • Share this article on whatsapp

हमें यह घोषणा करते हुए बेहद खुशी हो रही है कि न्यूज़लॉन्ड्री (एनएल) और द न्यूज़ मिनट (टीएनएम) जनहित की पत्रकारिता के लिए एक साथ आ रहे हैं. भविष्य में आप दोनों संस्थानों के बीच आपसी समन्वय के साथ-साथ आगे बढ़ने की एक साझा रणनीति भी देखेंगे.

डिजिटल युग ने सूचना संसार में नए अवसरों के सृजन के साथ ही नई चुनौतियों को भी जन्म दिया है. सबसे अहम बात यह है कि इस नए आयाम ने हमें सिखाया है कि यह आपसी सहयोग का युग है, ख़ासकर पत्रकारिता में.

द न्यूज़ मिनट और न्यूज़लॉन्ड्री  एक समान मूल्यों और विचारों से प्रेरित हैं और अतीत में निरंतर एक-दूसरे का समर्थन करते रहे हैं. द न्यूज़ मिनट अपनी विश्वसनीयता, लैंगिक मुद्दों पर अपने शानदार काम और दक्षिण भारत पर विशेष ध्यान देने के साथ-साथ समाचारों के पारंपरिक ढांचे को तोड़ने के लिए जाना जाता है. टीएनएम जुझारू लोगों की एक टीम है जिसने न केवल समाचार कवरेज पर, बल्कि लैंगिक हिंसा पर बहस के लिए पारंपरिक मीडिया द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली भाषा और शब्दावली को भी बदलने का काम किया है. 

न्यूज़लॉन्ड्री भारत में डिजिटल समाचारों के अगुवा प्लेटफॉर्म्स में से एक है. जिस रास्ते पर पारंपरिक समाचार संस्थान चलने के लिए राज़ी नहीं थे, एनएल ने वहां जाकर अपनी विश्वसनीयता बनाई और मीडिया की समीक्षा और टिप्पणी का एक नया अध्याय भारतीय पत्रकारिता में शुरू किया. राजनीति, कानून, मनोरंजन, कॉरपोरेट्स और व्यापार पर तो सबकी आलोचनात्मक नज़र थी, लेकिन एनएल ने मीडिया पर रिपोर्टिंग में भारी कमी की ओर ध्यान खींचा- जिसके बिना न्यूज़ मीडिया जनहित में काम नहीं कर सकता.

यह गठबंधन दोनों संस्थानों की ताकत को बढ़ाएगा और हमारी क्षमता में गुणात्मक वृद्धि करेगा. न्यूज़लॉन्ड्री का मीडिया गतिविधियों की समालोचना और ऑडियो व वीडियो, दोनों प्रारूपों में लंबा अनुभव, साथ ही द न्यूज़ मिनट की उत्कृष्ट जमीनी रिपोर्टिंग की परंपरा एक ऐसा तालमेल है, जिसके जरिए हमें आधुनिक शो, रिपोर्ट और नए प्रोजेक्ट पेश करने का पूरा भरोसा है. ऐसी सामग्री जो अपनी बुनावट और इरादे में लोगों को आकर्षित कर सके. 

हमें उम्मीद है कि यह एक महत्वपूर्ण और प्रासंगिक मीडिया संस्थान बनने के सफर की शुरुआत है.

हमारे दोनों संस्थान अपने बेहतरीन पाठकों, दर्शकों, श्रोताओं और सबसे महत्वपूर्ण- हमारे सब्सक्राइबर्स के आभारी हैं. हम इस नई साझेदारी के लिए आपके समर्थन की उम्मीद करते हैं. वर्षों से आपका भरोसा ही वह आधार है, जिसके बल पर हमने काम किया है और हम आपके लिए मायने रखने वाली कहानियां लाते रहेंगे. हमारे लिए अपना समर्थन कायम रखें क्योंकि साथ-साथ हम सब मजबूत बनेंगे.

subscription-appeal-image

Support Independent Media

The media must be free and fair, uninfluenced by corporate or state interests. That's why you, the public, need to pay to keep news free.

Contribute

You may also like