एमसीडी में जीत के बाद केजरीवाल ने मांगा बीजेपी और कांग्रेस का साथ

एमसीडी चुनाव में आप को बहुमत, दूसरे नंबर पर रही भाजपा तो वहीं नौ सीटों पर सिमटी कांग्रेस. जीत के बाद काजरीवाल ने मांगा पीएम मोदी का आशीर्वाद.

   bookmark_add
एमसीडी में जीत के बाद केजरीवाल ने मांगा बीजेपी और कांग्रेस का साथ
  • whatsapp
  • copy

दिल्ली नगर निगम चुनाव के नतीजे घोषित हो चुके हैं. आम आदमी पार्टी ने 250 सीटों में से 134 सीटों पर जीत दर्ज कर बहुमत हासिल कर लिया है. भारतीय जनता पार्टी 104 सीटों पर जीत दर्ज कर दूसरे नंबर पर रही. वहीं कांग्रेस ने 9 सीटों पर जीत दर्ज की है जबकि 3 सीटें निर्दलीयों के नाम रहीं. 

दिल्ली में एमसीडी चुनाव की गिनती शुरू होने से पहले ही भाजपा, आप और कांग्रेस पार्टी कार्यालयों के बाहर मीडिया का जमावड़ा शुरू हो गया था.

बता दें कि दिल्ली नगर निगम के लिए 250 सीटों पर 4 दिसंबर को मतदान हुआ था. चुनाव में कुल 1349 उम्मीदवार मैदान में थे. बीजेपी और आप ने सभी 250 सीटों पर उम्मीदवार उतारे थे जबकि कांग्रेस के 247 उम्मीदवार मैदान में थे. वहीं 382 प्रत्याशी निर्दलीय के रूप में अपनी किस्मत आजमा रहे थे.

सुबह 8 बजे जब बैलेट पेपर की गिनती शुरू हुई तो शुरुआती रुझान में ही आम आदमी पार्टी भाजपा से आगे निकल गई थी. सुबह से ही आप पार्टी दफ्तर के बाहर कार्यकर्ताओं का जमावड़ा शुरू हो गया था. पार्टी दफ्तर को अंदर से गुब्बारों से सजाया गया था. दूसरी तरफ भाजपा प्रदेश कार्यालय के बाहर और अंदर सन्नाटा पसरा हुआ था.

इस दौरान भाजपा प्रदेश कार्यालय पर भाजपा नेता हरीश खुराना और प्रवक्ता शहजाद जयहिंद मीडिया से बातचीत करते नजर आए. इनके अलावा पार्टी दफ्तर में कोई बड़ा नेता या कार्यकर्ता मौजूद नहीं था. भाजपा दफ्तर में पार्टी के लोगों से ज्यादा मीडिया के लोग मौजूद थे. वहीं दूसरी तरफ आम आदमी पार्टी के दफ्तर में जश्न का माहौल था. आम आदमी पार्टी की तैयारियों को देखकर ऐसा लग रहा था कि पार्टी कार्यकर्ता पहले से ही जीत को लेकर निश्चिंत थे. 

करीब साढ़े दस बजे भाजपा और आप क्रमश: 118 और 135 सीटों पर आगे चल रही थीं. वहीं कांग्रेस 7 सीटों पर आगे थी. जैसे ही यह खबर आई कि भाजपा 118 सीटों पर आगे चल रही है और बहुमत के आंकड़े से बस कुछ ही कदम दूर है. इसके बाद भाजपा कार्यालय पर थोड़ा सा उत्साह देखने को मिला.

भाजपा के प्रवक्ता जो पहले संभलकर बोल रहे थे वह अब आक्रामक हो गए थे. न्यूज़लॉन्ड्री से बात करते हुए भाजपा प्रवक्ता अजय शेरावत ने कहा, "हम जनता के बीच में रहे हैं इसलिए हमें मालूम है कि बहुमत हमारी तरफ आ रहा है. आम आदमी पार्टी के लोग कितने भी शिगूफे बनाते रहें, कितने भी इंटरनल सर्वे कराते रहें लेकिन जीत हमारी ही होगी और यह बात आधे घंटे में स्पष्ट हो जाएगी."

इसके बाद भाजपा कार्यालय में पार्टी के संगठन मंत्री बीएल संतोष पहुंचे और उनके थोड़ी देर बाद भाजपा के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता भी आए. चुनाव के नतीजों पर बात रखते हुए आदेश गुप्ता ने बताया, "दिल्ली में 15 साल से निगम के अंदर भारतीय जनता पार्टी थी और चौथी बार निगम में हम फिर से सरकार बनाने जा रहे हैं. जब तक आखिरी रिजल्ट आएगा भाजपा पूर्ण बहुमत प्राप्त करेगी. बीजेपी अच्छे कामों की वजह से और प्रधानमंत्री मोदी द्वारा दिल्ली को दी गईं सौगातों की वजह से और गरीबों को फ्लैट देने की वजह से एमसीडी में फिर आ रही है.”

वहीं आम आदमी पार्टी की तरफ से सौरभ भारद्वाज ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि दिल्ली में इस बार हमारा मेयर बनने जा रहा है और हम 180 सीट का आंकड़ा पार करेंगे. दिल्ली की जनता भाजपा से ऊब चुकी थी. बीजेपी के बड़े नेताओं को मार्च में ही पता चल गया था कि वह दिल्ली एमसीडी से जाने वाले हैं इसलिए उन्होंने चुनाव को आगे के लिए टाल दिया था.

दोपहर होते-होते आप कार्यालय के अंदर ढोल और डीजे पर गाने बजने शुरू हो गए. जैसे- जैसे नतीजों की तस्वीर साफ हो रही थी वैसे-वैसे आप दफ्तर के बाहर और अंदर कार्यकर्ता उत्साह में सराबोर हो गए. अंदर केजरीवाल के लिए स्टेज सज चुका था. 

इस दौरान आप की जीत के जश्न में शामिल कार्यकर्ताओं और आम लोगों से हमने बात की और जानने की कोशिश की, कि इस जीत से उनको क्या उम्मीद है. दिल्ली के नरेला से आए ऑटो चालक मोहम्मद नसीम खुशी में थिरकते हुए कहते हैं, "केजरीवाल जी जो कहते हैं वह करते हैं. हमारी गलियों सड़कों पर कूड़ा भरा रहता है. हम पार्षद से शिकायत करते थे लेकिन सुनवाई नहीं होती थी. अब केजरीवाल के आने से हमारी गलियां और सड़कें साफ हो जाएंगी."

इसके अलावा नसीम ने बताया कि जब आम आदमी पार्टी पहला चुनाव लड़ रही थी तो सबसे ज्यादा ऑटो वालों ने सपोर्ट किया था. यहां तक कि केजरीवाल के पोस्टर ऑटो पर लगाने की वजह से हमारे चालान भी हुए थे. लेकिन फिर भी हम केजरीवाल के साथ खड़े रहे क्योंकि केजरीवाल हमारे साथ खड़े रहते हैं.

इस जश्न में शामिल दरियागंज की रहने वाली लक्ष्मी कहती हैं, “हम रेहड़ी वालों को एमसीडी के कर्मचारी बहुत परेशान करते हैं. जब इनके मन में आता है हमारा ठेला उठा कर फेंक देते हैं. इसलिए हम बदलाव चाहते थे. केजरीवाल जी पर भरोसा है कि वह हमारी समस्या का समाधान करेंगे."

वहीं लक्ष्मी नगर की रहने वाली एक अन्य कार्यकर्ता नीलम कहती हैं, "यह पार्टी गरीबों की सुनती है. गरीबों के लिए काम करती है. इस मंहगाई में केजरीवाल ने हमारा बस का किराया फ्री कर दिया. बच्चों की पढ़ाई और ईलाज फ्री कर दिया. हमारे लिए मोहल्ला क्लीनिक बनवाया. हमें तो बस केजरीवाल पसंद है क्योंकि हमारी वही सुनते हैं."

मटिया महल की रहने वाली इशरत जहां खुशी जाहिर करते हुए कहती हैं कि अब कम से कम हमारी सड़के तो साफ रहेंगी. वह आगे कहती हैं कि जहां हम रहते हैं वहां बहुत ज्यादा कूड़ा रहता है. हमें सुबह नौकरी पर जाने के लिए कूड़े से होकर गुजरना पड़ता है. लेकिन यह बात सही है कि पार्टी में कार्यकर्ताओं की सुनवाई उतनी नहीं होती जितनी होनी चाहिए. हालांकि बाकी पार्टियों के मुकाबले यहां सुनवाई ज्यादा होती है.

इस चुनाव में जहां आप ने कूड़ा और एमसीडी में व्याप्त भ्रष्टाचार को चुनावी मुद्दा बनाया था वहीं भाजपा ने आप नेताओं पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों को मुद्दा बनाया था. 

एमसीडी में जीत के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जनता का आभार जताते हुए कहा कि दिल्ली वालों ने अपने बेटे को इस लायक समझा कि दिल्ली नगर निगम की जिम्मेदारी दी. अब तक जनता ने मुझे स्कूल, अस्पताल और बिजली की जिम्मेदारी दी थी. जिसे हमने दिन रात मेहनत करके ठीक किया. अब पार्कों को ठीक करने, सफाई और भ्रष्टाचार को खत्म करने की जिम्मेदारी दी है.

उन्होंने आगे कहा, "हम सबको साथ लेकर चलेंगे और दिल्ली को ठीक करेंगे. भाजपा और कांग्रेस से भी सहयोग लेंगे. और दिल्ली को ठीक करने के लिए उन्हें पीएम का भी आशीर्वाद चाहिए.”

वहीं चुनावी नतीजों पर भाजपा के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा कि हमने बहुत अच्छी तरह से चुनाव लड़ा और हमारे कार्यकर्ताओं ने बहुत मेहनत की. हम मुद्दों को लेकर जनता के बीच गए. आप के लोग कह रहे थे कि हम 20 सीटें भी नहीं जीतेंगे लेकिन हमने 15 साल तक एमसीडी में रहने के बावजूद 104 सीटों पर जीत दर्ज की. अगर आप को 40 प्रतिशत वोट मिला है तो 38% वोट हमने भी पाए हैं. हमने अच्छा प्रदर्शन किया है.

वहीं दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अनिल चौधरी ने केजरीवाल को जीत की बधाई दी और कहा कि उम्मीद है अब केजरीवाल निकायों के काम कराने के लिए फंड का रोना नहीं रोएंगे.

subscription-appeal-image

Support Independent Media

यह एक विज्ञापन नहीं है. कोई विज्ञापन ऐसी रिपोर्ट को फंड नहीं कर सकता, लेकिन आप कर सकते हैं, क्या आप ऐसा करेंगे? विज्ञापनदाताओं के दबाव में न आने वाली आजाद व ठोस पत्रकारिता के लिए अपना योगदान दें. सब्सक्राइब करें.

Also see
एमसीडी चुनाव: क्या 50 फीसदी आरक्षण महिला सशक्तिकरण के लिए काफी है?
एनएल चर्चा 243: गुजरात चुनाव, चीन में अभूतपूर्व प्रदर्शन और एनडीटीवी से रवीश का इस्तीफा

Comments

We take comments from subscribers only!  Subscribe now to post comments! 
Already a subscriber?  Login


You may also like