फ्रिंजत्व ही हिंदुत्व है

भारतीय जनता पार्टी ने अपने कुछ प्रवक्ताओं को 'फ्रिंज' तत्व घोषित किया है, इस पैमाने पर आप पाएंगे कि भाजपा में फ्रिंज की भरमार हैं?

   bookmark_add
फ्रिंजत्व ही हिंदुत्व है
  • whatsapp
  • copy

सांसद तेजस्वी सूर्या

बेंगलुरु दक्षिण से सांसद और भारतीय जनता युवा मोर्चा के अध्यक्ष तेजस्वी सूर्या ने पिछले वर्ष एक रैली के दौरान डीएमके को 'एंटी- हिंदू' बताया था, और कहा था कि तमिलनाडु को बचाने के लिए हिंदुत्व लाना होगा.

2021 में उनका एक वीडियो सामने आया जिसमें उनकी मौजूदगी के दौरान कोविड वॉर रूम के मुस्लिम कर्मचारियों के खिलाफ सांप्रदायिक टिप्पणियां की गईं. वीडियो में नगर पालिका कोविड वॉर रूम में तेजस्वी सूर्या, भाजपा के तीन विधायकों के साथ अधिकारियों पर बरसते हुए दिखाई दे रहे हैं. यहां तेजस्वी ने 17 मुसलमानों के नाम पढ़े जिन्हें कोविड के दौरान बेड की कमी के लिए कसूरवार ठहराया गया. सूर्या को कहते सुना जा सकता है, "उन्हें (मुसलमानों) कारपोरेशन के लिए रखा है या मदरसे के लिए?"

2021 में ही उडुपी में एक कार्यक्रम, 'विश्वरपणम' के दौरान तेजस्वी ने कहा था, "हमें बड़ा सोचना होगा. केवल हमारे घरों के पास के मुसलमानों या ईसाइयों का पुनः धर्म-परिवर्तन करना काफी नहीं है. आज के पाकिस्तान में उन मुसलमानों को फिर हिंदू धर्म में परिवर्तित करना हमारी प्राथमिकता होनी चाहिए."

संबित पात्रा

संबित पात्रा का नाम टीवी पर होने वाली डिबेट में शायद सबसे चर्चित और विवादित है. वह हर डिबेट में चिल्लाने और उसमें शामिल मुसलमान प्रतियोगियों पर बरसने के लिए मशहूर हैं.

साल 2018 में रिपब्लिक टीवी पर हो रही एक बहस में संबित पात्रा आक्रामक हो जाते हैं. वह फहीम बेग को कहते हैं, "कितना भी चिल्ला ले मंदिर वहीं बनेगा. घोड़े खोल ले. मंदिर वहीं बनेगा मौलाना."

एबीपी न्यूज़ की एक डीबेट में संबित, ऑल इंडिया इमाम संघ के प्रतिनिधि मौलाना साजिद रशीदी को 'आतंकवादी मौलाना' कहकर चुप कराते हैं कि वह राम मंदिर के विषय में न बोले. इसी डिबेट में रशीदी कहते हैं कि उन्हें दुख होता है जब हिंदू भगवान राम के नाम पर राजनीतिक रोटी सेकते हैं. इस पर भड़के हुए संबित कहते हैं, "क्यों मौलाना आप अल्लाह के नाम पर राजनीतिक रोटी सकते हैं? अल्लाह रोटी सेकता है.."

वह कई बार इन कार्यक्रमों में मौलानाओं को 'आईएसआई का एजेंट' कहकर बुलाते हैं.

अनुराग ठाकुर

2020 में तत्कालीन केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर का एक वीडियो सामने आया था. यह वीडियो 27 जनवरी 2020 में दिल्ली चुनाव के दौरान का था. रिठाला विधानसभा में भाषण के दौरान वह कहते सुनाई देते हैं, "देश के गद्दारों को गोली मारो सालों को" इस दौरान स्टेज पर सांसद हंस राज हंस भी मौजूद थे. इस वीडियो के सामने आने के बाद चुनाव आयोग ने अनुराग ठाकुर को सामाजिक सौहार्द बिगाड़ने के लिए नोटिस भी भेजा था.

नंदकिशोर गुर्जर

इस साल उत्तर प्रदेश चुनाव के दौरान, लोनी से भाजपा उम्मीदवार नंदकिशोर गुर्जर ने अपना चुनाव प्रचार 'न अली, न बाहुबली - यहां सिर्फ बजरंगबली चलेंगे' से शुरू किया था. इसके लिए उन्हें चुनाव आयोग ने नोटिस भी जारी किया था.

2020 में नवरात्रि के दौरान गाजियाबाद के लोनी में उन्होंने खुद जाकर मांस की दुकानें बंद कराई थीं.

उसी साल, ईद-उल-अधा के अवसर पर उन्होंने एक विवादित टिप्पणी की थी. गुर्जर ने कहा था, "जो लोग ईद पर कुर्बानी देना चाहते हैं, वे अपने बच्चों की कुर्बानी दें. मैं लोनी में लोगों को मांस और शराब का सेवन नहीं करने दूंगा. हम लोगों को निर्दोष जानवरों की बलि नहीं देने देंगे क्योंकि मांस से कोरोना वायरस फैलता है."

यह भारतीय जनता पार्टी के चंद नेता हैं, जो भाजपा के ही अनुसार 'फ्रिंज' कही जा सकने वाली बयानबाजी करते हैं. लेकिन भाजपा अपने चर्चित और शीर्ष के नेताओं को 'फ्रिंज' मानने से मुंह मोड़ लेती है. नुपुर शर्मा और नवीन जिंदल पर हुई कार्रवाई के बाद यह देखना दिलचस्प होगा कि क्या इन नेताओं के आचरण में कोई सुधार आएगा भी या नहीं?

Also Read :
नुपुर शर्मा तो झांकी है: भाजपा में फ्रिंज ही केंद्र है, केंद्र ही फ्रिंज है
पैगंबर पर अभद्र टिप्पणी करने वाली नुपुर शर्मा, पत्रकार सबा नक़वी समेत 8 पर एफआईआर दर्ज
newslaundry logo

Pay to keep news free

Complaining about the media is easy and often justified. But hey, it’s the model that’s flawed.

Comments

We take comments from subscribers only!  Subscribe now to post comments! 
Already a subscriber?  Login


You may also like