पत्रकार राणा अय्यूब को लेकर दिए गए यूएन के बयान पर भारत सरकार ने दिया जवाब

इससे पहले जिनेवा में संयुक्त राष्ट्र के ट्विटर अकांउट से राणा अय्यूब को लेकर ट्वीट किया गया, जिसमें कहा गया कि भारतीय अधिकारी पत्रकार के खिलाफ सोशल मीडिया पर हो रहे हमलों के खिलाफ कार्रवाई करें.

पत्रकार राणा अय्यूब को लेकर दिए गए यूएन के बयान पर भारत सरकार ने दिया जवाब
  • whatsapp
  • copy

भारत ने संयुक्त राष्ट्र द्वारा पत्रकार राणा अय्यूब को लेकर किए गए ट्वीट पर अपनी प्रतिक्रिया दी है. संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थाई मिशन ने कहा, राणा अय्यूब पर न्यायिक प्रताड़ना का आरोप पूरी तरह से आधारहीन और अनुचित है.

स्थाई मिशन ने ट्वीट कर कहा, “जर्नलिस्‍ट राणा अय्यूब के तथाकथित न्‍यायिक प्रताड़ना के आरोप निराधार और अनुचित हैं. भारत में कानून का राज कायम है लेकिन यह स्‍पष्‍ट है कि कोई भी कानून के ऊपर नहीं है. हम संयुक्त राष्ट्र को सटीक सूचना दिए जाने की उम्‍मीद रखते हैं. गलत जानकारी संस्था की छवि को ही खराब करेगा.”

बता दें कि इससे पहले जिनेवा में संयुक्त राष्ट्र के ट्विटर अकांउट से राणा अय्यूब को लेकर ट्वीट किया गया, जिसमें कहा गया कि भारतीय अधिकारी पत्रकार के खिलाफ सोशल मीडिया पर हो रहे हमलों के खिलाफ कार्रवाई करें.

साथ ही कहा गया कि ये हमले मुस्लिम अल्पसंख्यकों को प्रभावित करने वाले मुद्दों को उठाने, सरकार द्वारा महामारी को ठीक ढंग से न संभाल पाने के कारण आलोचना करने और हाल ही में कर्नाटक के स्कूल और कॉलेजों में हिजाब बैन पर उनकी टिप्पणियों के कारण हो रहे हैं.

एनडीटीवी की खबर के मुताबिक, जिनेवा में भारतीय मिशन इस मामले को संयुक्त राष्ट्र कार्यालय में भी उठाएगा.

Also see
क्या राणा अय्यूब ने चंदा लेकर एफसीआरए का उल्लंघन किया?
पत्रकार राणा अय्यूब को धमकी देने के मामले में पुलिस ने दर्ज की एफआईआर

Comments

We take comments from subscribers only!  Subscribe now to post comments! 
Already a subscriber?  Login


You may also like