अमित शाह का इंटरव्यू करने वाले तीन पत्रकार हुए कोरोना पॉज़िटिव

मिलेनियम पोस्ट के अनुसार बीजेपी की "परिवर्तन यात्रा" को कवर करने वाले कई पत्रकार कोरोना संक्रिमत पाए गए.

Article image
  • Share this article on whatsapp

देशभर में कोरोना संक्रमण की तेज रफ़्तार के बीच खबर आ रही है कि पश्चिम बंगाल का चुनाव कवर कर रहे कई पत्रकार कोरोना की चपेट में आ गए हैं. मिलेनियम पोस्ट की एक खबर के अनुसार संक्रमित होने वाले पत्रकार बीजेपी की "परिवर्तन यात्रा" अभियान और अन्य चुनाव कार्यक्रमों की रिपोर्टिंग कर रहे थे. संक्रिमत हुए पत्रकारों में टाइम्स ऑफ़ इंडिया, आनंद बाजार पत्रिका, एबीपी आनंद और ज़ी 24 घंटा के लोग शामिल हैं.

मिलेनियम पोस्ट द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार एबीपी आनंद के 40 पत्रकार कोरोना संक्रमित पाए गए हैं. इनमें वाइस प्रेसिडेंट सुमन डे और ब्यूरो चीफ अतनु हलधर के नाम शामिल है. चुनाव के दौरान कई पत्रकार गृहमंत्री अमित शाह के संपर्क में भी आए है. ज़ी मीडिया के वरिष्ठ पत्रकार अंजन बंदोपाध्याय की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. वहीं न्यूज़ नेशन के पत्रकार रविकान्त नोएडा के निजी अस्पताल में अपना इलाज करवा रहे हैं जहां उनकी हालत गंभीर बताई जा रही है. इन तीनों ने ही अमित शाह का इंटरव्यू लिया था.

सुमन डे ने बीजेपी के बंगाल अध्यक्ष दिलीप घोष और अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती का भी इंटरव्यू लिया था. चुनाव के दौरान ये सभी नेता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सीधे संपर्क में रहे हैं.

बंगाल चुनाव के अलग-अलग चरणों को कवर करने कई पत्रकारों ने दिल्ली से बंगाल यात्रा की थी. कई बीजेपी के मंत्रियों या केंद्रीय मंत्रियों के साथ बंगाल पहुंचे थे. मिलेनियम पोस्ट के मुताबिक इन पत्रकारों में कईयों की कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव आई है जिसके बाद से वे अस्पताल मे भर्ती हैं या फिर होम आइसोलेशन में हैं. मिलेनियम पोस्ट ने जानकारी दी है कि कई कोरोना संक्रमित पत्रकार बंगाल में होटल हिंदुस्तान इंटरनेशनल में स्थित भाजपा के मीडिया सेल में नियमित जाते रहे हैं.

राज्य मे बढ़ते कोरोना मामलों के मद्देनज़र चुनाव आयोग ने कोविड प्रोटोकॉल के साथ रैली आयोजन की सहमति दी थी. पार्टी के सभी लीडर और कार्यकर्ताओं जिनका संपर्क पीएम मोदी के साथ रहता है उनका आरटी- पीसीआर टेस्ट होता है. शुक्रवार को आसनसोल में मोदी की रैली के बाद 24 बीजेपी कार्यकर्ता और नेता कोरोना पॉजिटिव पाए गए. ये सभी इस रैली के आयोजक थे.

मोदी-शाह के अलावा भाजपा के कई दिग्गज नेता जिनमें स्मृति ईरानी, राजनाथ सिंह, अर्जुन मुंडा जैसे 40 सांसद और मंत्री राज्य के अलग-अलग हिस्सों में रैली कर रहे हैं. मिलेनियम पोस्ट ने लिखा है कि अमित शाह की रैलियों के बाद उत्तर बंगाल में कोरोना के मामले तेजी से बढ़े हैं.

यह आंकड़ा इस लिहाज से दिलचस्प है कि दो दिन पहले ही रविवार को अमित शाह ने इंडियन एक्सप्रेस को दिए एक इंटरव्यू में चुनावी रैलियों और राज्य मे बढ़ते कोरोना मामलों के बीच कोई संबंध नहीं होने की बात कही है. शाह ने बढ़ते कोरोना मामलों को चुनाव से जोड़ने को बेबुनियाद बताया. इस इंटरव्यू में अमित शाह ने कहा कि जिन राज्यों में चुनाव नहीं हैं वहां कोरोना संक्रमण अधिक तीव्रता से फैल रहा है.

शाह कहते हैं, "महाराष्ट्र में 60,000 मामले आ रहे हैं जबकि इधर (बंगाल) 4,000 हैं. महाराष्ट्र के लिए मुझे सहानुभूति है लेकिन इसको चुनाव के साथ जोड़ना ठीक नहीं है. जिन राज्यों मे चुनाव नहीं हुआ वहां मामले ज़्यादा बढ़े. अब आप क्या कहेंगे?"

बता दें कि देश में इस समय कोरोना के मामले आसमान छू रहे हैं. भारत में पिछले 24 घंटों में 2,61,500 नए मामले दर्ज हुए हैं. वहीं पश्चिम बंगाल में पिछले 24 घंटों में 8,419 कोरोना संक्रमण के नए मामले दर्ज हो चुके हैं.

subscription-appeal-image

Support Independent Media

The media must be free and fair, uninfluenced by corporate or state interests. That's why you, the public, need to pay to keep news free.

Contribute
Also see
article imageकोरोना के टीके की विश्वसनीयता कितनी है, क्या ये म्युटेंट वायरस संस्करणों से लड़ सकते हैं?
article imageमध्य प्रदेश में कोविड से मरने वालों की संख्या में भारी गड़बड़ी

You may also like