फोटो पत्रकार जयदीप बंसल की कोविड 19 से मौत

पंजाब के पटियाला में काम करने वाले जयदीप 18 अगस्त को कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे.

ByAshwine Kumar Singh
फोटो पत्रकार जयदीप बंसल की कोविड 19 से मौत
  • whatsapp
  • copy

कोरोना वायरस महामारी का प्रकोप भारत में लगातार बढ़ रहा है. इस महामारी के समय लोगों को सही सूचनाएं जल्दी और सटीक मिले इसके लिए दिन-रात पत्रकार काम कर रहे हैं. इन्हीं फ्रंटलाइन वॉरियर्स में शामिल फोटो पत्रकार जयदीप बंसल की कोविड से मौत हो गई.

27 वर्षीय बंसल पंजाब के पटियाला के रहने वाले थे, वह वर्तमान में फ्रीलांस फोटो पत्रकार के तौर पर काम कर रहे थे. इससे पहले वह वह दैनिक भास्कर और दैनिक सवेरा अखबार में काम कर चुके हैं.

पंजाब के पटियाला में पंजाब केसरी के लिए काम करने वाले पत्रकार परममीत सिंह ने न्यूज़लॉन्ड्री से बातचीत में बताया कि जयदीप फ्रीलांस पत्रकार थे. वह 18 अगस्त को कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे. जिसके बाद 19 तारीख को उन्हें राजेन्द्र अस्पताल में भर्ती कराया गया था. अगले दिन उनको वेंटिलेटर पर रखा गया, इलाज के दौरान उनका निधन हो गया.

जयदीप की शादी अभी तक नहीं हुई है. उनके परिवार में उनके माता-पिता और बड़ी बहन है, जिनकी शादी हो गई है. रविवार 23 अगस्त की रात को निधन हो जाने के बाद सोमवार सुबह 9 बजे परिवार को जयदीप का पार्थिव शरीर दिया गया, जिसके बाद उनका अंतिम संस्कार किया गया. इस दौरान डिप्टी कमिश्नर और एसडीएम मौजूद थे. परिवार को आर्थिक मदद पर परममीत कहते है "सीएम कार्यालय में बात चल रही है, जल्द ही मदद की घोषणा हो सकती है."

12 साल तक पत्रकारिता में काम कर चुके जयदीप के करीबी दोस्त राहुल शर्मा कहते हैं दैनिक सवेरा में काम करते समय जयदीप से दोस्ती हुई थी. वह बताते हैं कि "उनकी दोस्ती काफी मशहूर है. करीब चार महीने पहले हमारी आखिरी बार मुलाकात हुई थी. हम दोनों ने निर्णय किया था कि, कोविड के समय में घर से कम निकलेंगे."

बता दे कि कोविड के वजह से कई पत्रकारों की मौत हो चुकी है. मई महीने में दैनिक जागरण के आगरा में काम करने वाले पत्रकार पंकज कुलश्रेष्ठ की मौत हो गई थी. उनके निधन पर परिजनों ने आरोप लगाया था कि प्रशासन की लापरवाहियों के वजह से उनकी मौत हुई. इससे पहले जुलाई महीने में कोविड के कारण ही दैनिक भास्कर के पत्रकार तरूण सिसोदिया ने आत्महत्या कर ली थी.

भारत में अभी तक 31 लाख से ज्यादा लोग कोविड पॉजिटिव पाए गए है, जिनमें से 57 हजार लोगों की मौत हो गई, वहीं 23 लाख से ज्यादा लोग रिकवर हुए हैं. इस महामारी के इलाज के लिए कई वैक्सीन अंतिम स्टेज में है. जिनमें भारत की वैक्सीन भी है.

Also Read :
सीतापुर में पत्रकार पर जानलेवा हमला
उत्तर प्रदेश: क्वारंटीन सेंटर की बदइन्तजामी दिखाने पर पत्रकार पर एफआईआर
newslaundry logo

Pay to keep news free

Complaining about the media is easy and often justified. But hey, it’s the model that’s flawed.

You may also like