एनएल चर्चा 106 : कोरोना वायरस, दिल्ली दंगा और अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव

हिंदी पॉडकास्ट जहां हम हफ़्ते भर के बवालों और सवालों पर चर्चा करते हैं.

एनएल चर्चा 106 : कोरोना वायरस, दिल्ली दंगा और अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव
  • whatsapp
  • copy

न्यूज़लॉन्ड्री चर्चा के इस एपिसोड में हमने दिल्ली समेत देश के अन्य हिस्सों में फैल रहे कोरोना वायरस और इस को लेकर फैलाए जा रहे भ्रम, दिल्ली दंगों में मरने वालो की बढ़ती संख्या, आम आदमी पार्टी के निष्कासित पार्षद ताहिर हुसैन की गिरफ्तारी, केजरीवाल सरकार द्वारा कन्हैया कुमार के खिलाफ राजद्रोह के केस की मंजूरी देने और अमेरिका में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी की ओर से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार की दावेदारी के मुद्दो पर चर्चा की.

इस सप्ताह चर्चा में हिदुस्तान हिंदी के वरिष्ठ संवाददाता हेमंत राजौरा, बीबीसी हिंदी के संपादक मुकेश शर्मा और न्यूज़लॉन्ड्री के एसोसिएट एडिटर मेघनाथ एस शामिल हुए. चर्चा का संचालन न्यूज़लॉन्ड्री के कार्यकारी संपादक अतुल चौरसिया ने किया.

चर्चा की शुरुआत अतुल ने कोरोना वायरस की फैलती हुई समस्या से किया. उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया में अभी तक कुल करीब 90 हजार प्रभावित लोगों की संख्या पहुंच गई हैं. इसमें भी सर्वाधिक संख्या चीन में है. वहीं भारत में 30 प्रभावित लोगों की जानकारी मिली हैं. वायरस के मद्देनजर बहुत से स्कूल भी बंद किए गए हैं, बहुत से ऑफिस में लोगों को छुट्टियां दी जा रही हैं. अतुल पैनल से पूछते हुए कहते है कि कोरोना वायरस का अभी तक कोई इलाज नहीं है और इसका कोई खास लक्षण भी नहीं है जिससे इसे पहचाना जा सकें. क्या यही वजह है कि यह एक दम नए किस्म की बीमारी हैं?

इस प्रश्न के जवाब में मुकेश शर्मा कहते हैं “कई लोग इसे जैविक हथियार से भी जोड़कर देख रहे हैं, और लोगों के लिए यह समझना मुश्किल हो रहा है कि सर्दी-खांसी उनके लिए जानलेवा हो सकती है. शायद इसलिए इससे बचाव की चर्चा अधिक हो रही है क्यों कि इसका कोई टीका उपलब्ध नहीं है. जब हम ऑफिस से निकलते हैं या आते हैं तो कहा जाता है की सैनिटाइजर से हाथ धोए और यह भी बताया जा रहा है कि कैसे हाथ धोएं. इस वायरस के कारण ही होली मिलन जैसे कार्यक्रम से राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, गृहमंत्री ने दूरी बना ली है और कई समाजिक संगठनों ने भी सार्वजनिक तौर पर होली ना मनाने की घोषणा की है.”

अतुल ने चर्चा में हेमंत रजौरा को शामिल करते हुए पूछा, “आप ग्राउंड से रिपोर्टिंग करते हैं तो अस्पतालों और अन्य जगहों से आपके पास क्या ख़बर है. अतुल के सवाल का जवाब देते हुए हेमंत कहते हैं, “अभी दिल्ली में कोरोना वायरस के कुल नौ मामले सामने आए हैं और देशभर में 30 मामले सामने आए हैं. जो नौ मामले सामने आए हैं वह सभी लोग सफदरगंज अस्पताल में भर्ती हैं. अस्पताल में106 बेड का एक आईसोलेशन सेंटर बनाया गया है और इटालियन पर्यटकों को मेंदाता अस्पताल में भर्ती कराया गया है. कल जब हम एम्स के डाक्टर करण से बात कर रहे थे तो उन्होंने कहा कि अभी तक की जानकारी के अनुसार हमें इतना डरने की जरुरत नहीं है क्योंकि इस का डेथरेट तीन प्रतिशत है.चूंकि यह बहुत जल्दी फैलता है, इसलिए हमें इसके प्रिवेंशन पर ध्यान देना चाहिए.”

इसके बाद अतुल ने यूपी और बिहार में इस वायरस के फैलाव पर मेघनाद से चर्चा की. मेघनाथ सभी श्रोताओं और दर्शकों को संबोधित करते हुए कहते है कि कोरोना वायरस के बारे में सबसे सही और सटीक जानकारी के लिए आप विश्व स्वास्थ संगठन (डब्ल्यूएचओ) की वेबसाइट पर जाएं क्योंकि यहीं आप को सही और विश्वसनीय जानकारी मिलेगी. इस वेबसाइट पर एक डैशबोर्ड है जहां आप को लाइव जानकारी मिल सकेगी, हर देश में कितने कोरोना वायरस के मामले है. गुरुवार को चर्चा के समय तक 95,270 केस अभी तक पूरे विश्व में दर्ज किए गए है. वहीं 3,280 लोगों की इससे मौत हो चुकी है. इस वायरस के मरीज अभी तक 79 देशों में पाए गए हैं.

बाकी विषयों पर भी विस्तार से चर्चा हुई. पूरी चर्चा सुनने के लिए पॉडकास्ट सुने साथ ही न्यूजलॉन्ड्री को सब्सक्राइब करें और गर्व से कहें- 'मेरे खर्च पर आज़ाद हैं खबरें.'

पत्रकारों की राय, क्या देखा पढ़ा और सुना जाए.

मुकेश शर्मा

लाइफ इस ब्यूटीफुल

हेमंत राजौरा

द लास्ट शिप (नेटफ्लिक्स सीरीज)

मेघनाथ

जॉन ऑलिवर (कोरोना वायरस एपिसोड)

जॉन ऑलिवर ( ट्रम्प भारत दौरा एपिसोड)

कार्ड कैपटर सकूरा ( नेटफ्लिक्स सीरीज)

अतुल चौरसिया

कोरोना वायरस पर गार्जियन की रिपोर्ट

मनीषा पाण्डेय की दिल्ली दंगों पर रिपोर्ट

बसंत कुमार और आयुष तिवारी की ऑप इडिया फेक्ट चेक रिपोर्ट

newslaundry logo

Pay to keep news free

Complaining about the media is easy and often justified. But hey, it’s the model that’s flawed.

You may also like