राजस्थान के युवा: सरकारी नौकरी के सहारे, पेपर लीक के मारे

राजस्थान में हर साल लाखों छात्र परीक्षाओं की तैयारी करने जाते हैं. ऐसे में वहां की सबसे बड़ी समस्या पेपर लीक है, जो अब सरकार और युवाओं के लिए एक महत्वपूर्ण सवाल बन गई है.

  • Share this article on whatsapp

राजस्थान में 25 नवंबर को विधानसभा चुनाव के लिए मतदान होना है. राजस्थान को परीक्षाओं के लिहाज से एक बड़ा हब माना जाता है जहां हर साल लाखों छात्र तैयारी करने जाते हैं. ऐसे में वहां की सबसे बड़ी समस्या पेपर लीक है, जो अब सरकार और युवाओं के लिए एक महत्वपूर्ण सवाल बन गई है. 

न्यूज़लॉन्ड्री की टीम चनावों की कवरेज के लिए राजस्थान के जयपुर में है. यहां हमने सरकारी नौकरी पाने की उम्मीद लिए युवाओं से लगातार हो रहे विभिन्न सरकारी परीक्षाओं के पेपर लीक पर खुलकर बात की.

राज्य में पेपर लीक कितना बड़ा मुद्दा है और उसे लेकर सरकार की कार्रवाई से संतुष्ट हैं या नहीं के सवाल पर कुछ युवाओं का कहना है, “पेपर लीक एक राष्ट्रीय मुद्दा बन चुका है और राजस्थान उसका हॉटस्पॉट है. हम सरकार की कार्रवाई से संतुष्ट नहीं हैं क्योंकि कई इंटरव्यू में रुपए लेकर भी चयन किया गया है. कानून तो बना है पर उसपर अमल नहीं हो रहा है.”

subscription-appeal-image

Support Independent Media

कुछ छात्रों का कहना है कि ज्यादातर पढ़ने वाले छात्र गरीब परिवेश से हैं, जिनके पास संसाधन कम होते हैं, जो बड़ी मुश्किल से पैसा इकट्ठा करके पढ़ते हैं. जब एक बार पेपर लीक होता है, तो अगली बार परीक्षा देने वालों की संख्या बढ़ जाती है. सरकारी नौकरी नहीं मिलती है, तो शादी में दिक्कत आती है और यह हमारे समाज की सबसे बड़ी मांग भी है.

पेपर लीक से जुड़े तमाम मुद्दों पर युवाओं शिक्षकों का क्या कहना है. जानने के लिए देखें ये पूरा वीडियो-

Also see
article imageराजस्थान: कांग्रेस के चुनावी वादों, पेपर लीक और उदयपुर के लिए विजन पर क्या बोले गौरव वल्लभ
article imageराजस्थान: डेढ़ साल बाद भी न्याय के इंतजार में कन्हैया का परिवार, बोला- ‘हत्या पर राजनीति ठीक नहीं’

You may also like