उत्तर प्रदेश हेट स्पीच का मुद्दा ज्यादातर चैनलों से गायब

वायरल वीडियो में एक महंत मुस्लिम महिलाओं के साथ रेप करने की खुली धमकी दे रहा है.

Article image

उत्तर प्रदेश के सीतापुर जिले का एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है. वीडियो में स्थानीय महंत बजरंग मुनि मुस्लिम महिलाओं का अपहरण और उनके साथ बलात्कार करने की खुली धमकी देते हुए नजर आ रहे हैं. यह वीडियो खैराबाद में शीशे वाली मस्जिद के बाहर का है. जहां वह भीड़ को संबोधित करते हुए ऐसे आपत्तिजनक शब्दों का प्रयोग कर रहे हैं.

इस वीडियो को ऑल्ट न्यूज़ के सह-संस्थापक मोहम्मद जुबैर ने गुरुवार को ट्वीट करते हुए कहा, "यह कार्यक्रम 2 अप्रैल को हुआ था. वीडियो में कथित तौर पर पुलिस की वर्दी में एक व्यक्ति सभा में मौजूद है, जबकि भीड़ भाषण के दौरान जय श्री राम के नारे लगाते हुए दिखाई दे रही है."

भारत में हेट स्पीच की घटनाएं बढ़ती जा रही हैं. हाल ही में दिल्ली के बुराड़ी "हिंदू महापंचायत" और हरिद्वार में हुई धर्म संसद में भी नफरत भरे भाषण दिए गए थे. इसके अलावा हेट स्पीच का एक वीडियो अहमदाबाद से भी सामने आया है. सभा 27 मार्च को प्रवीण तोगड़िया और बजरंग दल के नेतृत्व में आयोजित की गई थी. सभा में मुस्लिम महिलाओं के बारे में कई आपत्तिजनक टिप्पणियां की गई थीं.

वहीं बुधवार को विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने राज्यसभा में इस मुद्दे को उठाया था. हालांकि खड़गे ने इस मुद्दे के लिए जो नोटिस दिया था, उस पर सभापति एम वेंकैया नायडू ने विचार नहीं किया.

अब इस बात पर नजर डालते हैं कि उत्तर प्रदेश के इस वायरल वीडियो को सुबह के प्रसारण के दौरान किन-किन चैनलों ने कवर किया.

अंग्रेजी चैनलों में एनडीटीवी और टाइम्स नाउ ने इस हेट स्पीच वीडियो को कवर किया. लखनऊ से एनडीटीवी के एक रिपोर्टर ने वीडियो पर विस्तार से चर्चा की. वहीं टाइम्स नाऊ के दो संवाददाता एक दिल्ली और दूसरे लखनऊ से जुड़े थे. उन्होंने इस वीडियो की निंदा करते हुए पूछा कि उत्तर प्रदेश पुलिस ने कोई कार्रवाई क्यों नहीं की. इस मुद्दे पर टिप्पणी करने के लिए कांग्रेस नेता उदित राज को भी आमंत्रित किया गया था.

दूसरी ओर रिपब्लिक टीवी पर अर्नब गोस्वामी ने गुरुवार को यूक्रेनी राष्ट्रपति वलोडिमिर जेलेंस्की के साथ इंटरव्यू किया है. चैनल सुबह के प्रसारण में भी इंटरव्यू की बातचीत को ही दोहराता रहा.

हिंदी चैनलों की बात करें तो एबीपी, आज तक और ज़ी न्यूज़ ने इस घटना पर कोई खबर नहीं चलाई. एबीपी का सुबह का प्रसारण पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान पर लटके अविश्वास प्रस्ताव और गोरखपुर मंदिर हमले पर केंद्रित था.

आज तक के सुबह के प्रसारण में यूक्रेन, नया एक्सई कोरोना वायरस और हाल ही में मुंबई में लाउडस्पीकर पर अजान पर छिड़ी बहस को कवर किया गया. ज़ी न्यूज़ ने भी अपने सुबह के प्रसारण के दौरान अजान के मुद्दे पर चर्चा की.

पीटीआई की खबर के मुताबिक हेट स्पीच के मुद्दे पर राष्ट्रीय महिला आयोग ने मुनि की गिरफ्तारी की मांग की है. साथ ही कहा कि पुलिस मूकदर्शक नहीं हो सकती है.

इस बीच मुनि का एक वीडियो सामने आया है जिसमें उन्होंने कहा कि जुबैर की ट्विटर आईडी चेक कीजिए. शुरू से अंत तक उनकी एक भी पोस्ट ऐसी नहीं है जो हिंदू विरोधी न हो.

मुनि का दावा है कि एक मुस्लिम लड़का हिंदू होने का दावा करते हुए उनके आश्रम में घुस आया था. इस दौरान उसने उनकी हत्या करने की भी कोशिश की. उन्होंने आगे आरोप लगाया कि इस दौरान लड़के ने कहा था कि उसे शीशे वाली मस्जिद ने मुनि की हत्या करने के लिए 28 लाख रुपए दिए थे.

Also see
article imageभारत में हेट स्पीच और ध्रुवीकरण से जुड़े पोस्ट से फेसबुक को कोई दिक्कत नहीं
article imageनफ़रती महापंचायत के जाने पहचाने चेहरे और मूकदर्शक दिल्ली पुलिस

Comments

We take comments from subscribers only!  Subscribe now to post comments! 
Already a subscriber?  Login


You may also like