जंतर मंतर पर पत्रकार से धक्का-मुक्की और जबरदस्ती "जय श्रीराम" के नारे लगवाने की कोशिश

नेशनल दस्तक के पत्रकार जंतर-मंतर पर कवरेज के लिए पहुंचे थे. इस दौरान उनसे कुछ लोगों ने दबरदस्ती जय श्रीराम के नारे लगवाने की कोशिश की.

  • whatsapp
  • copy

वह कहते हैं, "यह मेरी जिंदगी का पहला एक्सपीरियंस था जब मैं इतना डरा और घबराया."

क्या आपने इसकी शिकायत पुलिस से की है? इस सवाल पर अनमोल कहते हैं, "वह सब हमारा चैनल (नेशनल दस्तक) देख रहा है. मैंने पर्सनली अपनी तरफ से कुछ नहीं किया है. जो भी कार्रवाई करनी है वह सब चैनल केरगा."

बता दें कि अनमोल प्रीतम मूल रूप से उत्तर प्रदेश के गोरखपुर के रहने वाले हैं. उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय से पत्रकारिता की पढ़ाई की है. फिलहाल वह नेशनल दस्तक के साथ जुड़े हैं.

बता दें कि संसद भवन से कुछ दूर जंतर-मंतर पर हुई एक जनसभा में जमकर मुस्लिम विरोधी, हिंसक नारे लगाए गए और भड़काऊ भाषण दिए गए. यह घटना 8 अगस्त रविवार की है. बीजेपी के पूर्व प्रवक्ता अश्विनी उपाध्याय के आह्वान पर कई हिन्दू संगठनों के कार्यकर्ता और समर्थक जंतर मंतर पहुंचे थे. कार्यक्रम के आयोजकों की पांच मुख्य मांगें थी- समान शिक्षा, जनसंख्या नियंत्रण, घुसपैठ नियंत्रण, धर्मान्तरण नियंत्रण और समान नागरिक संहिता. लेकिन इस रैली में पहुंचे लोगों की मंशा नफरत और हिंसा भड़काने की दिखी.

Also Read :
बीजेपी नेता के कार्यक्रम में मुस्लिम विरोधी नारे लगाने वाले चेहरे
जातियों की जनगणना पर क्यों मची है रार?
newslaundry logo

Pay to keep news free

Complaining about the media is easy and often justified. But hey, it’s the model that’s flawed.

You may also like