एनएल चर्चा 169: यास चक्रवात, बाबा रामदेव को मानहानि नोटिस और लक्षद्वीप विवाद

हिंदी पॉडकास्ट जहां हम हफ़्ते भर के बवालों और सवालों पर चर्चा करते हैं.

एनएल चर्चा 169: यास चक्रवात, बाबा रामदेव को मानहानि नोटिस और लक्षद्वीप विवाद
एनएल चर्चा
  • whatsapp
  • copy

एनएल चर्चा के 169वें अंक में कोरोना के मामले, चक्रवात यास, आईएमए उत्तराखंड ने बाबा रामदेव को भेजा मानहानि नोटिस और राजद्रोह का केस दर्ज करने की मांग, भारत के कोविड मामलों पर न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट और लक्षद्वीप विवाद जैसे विषयों का विशेष जिक्र हुआ.

इस बार चर्चा में वरिष्ठ पत्रकार सबा नक़वी और न्यूज़लॉन्ड्री के सह संपादक शार्दूल कात्यायन शामिल हुए. चर्चा का संचालन एसोसिएट एडिटर मेघनाद एस ने किया.

चर्चा की शुरुआत करते हुए मेघनाद ने शार्दूल से नए आईटी नियमों के बारे में और व्हाट्सएप और केंद्र के विवाद के बारे में पूछा.

शार्दुल ने जवाब देते हुए कहा, "देखिए नए आईटी नियम जो आए हैं इसमें एक बड़े मजे की बात है. जैसा मेघनाद ने कहा की वो सबको देशद्रोही बताने लगते हैं अगर कोई उनके खिलाफ कुछ बोलता है. ये लोग कहते हैं की जनतंत्र में जनता ही भगवान है. एक पुरानी कहावत कहना चाहूंगा कि, जिसकी जैसी भावना होती है उसे भगवान वैसा ही दिखता है. तो जो भी इनसे जरा सी भी अलग बात कह दे तो वो देशद्रोही है. असल में उनकी भावना क्या है आप सोच सकते हैं.

बात करें व्हाट्सएप विवाद पर तो दरअसल सरकार की मुख्य लड़ाई व्हाट्सएप से है. आपको पता होगा हाल ही में व्हाट्सएप ने सरकार के खिलाफ दिल्ली हाई कोर्ट में याचिका दायर की है. नए आईटी नियमों के तहत केंद्र ने व्हाट्सएप से कहा है कि आप हमें बताएं कि किसी भी व्हाट्सएप पर किए गए मैसेज का सोर्स क्या है, या ये मैसेज सबसे पहले किसने शेयर किया है. व्हाट्सएप की ओर से कहा गया कि हमें अपना एन्क्रिप्शन तोड़ना पड़ेगा और ये हमारी पॉलिसी के खिलाफ है. अब सरकार इस पर कह रही है कि हम इसको रेयरेस्ट ऑफ रेयर में ही इस्तेमाल करेंगे. अब ये रेयरेस्ट ऑफ रेयर वाली बात तो उन्होंने यूएपीए के लिए भी कही थी. वो तो आप देख ही सकते हैं आजकल उसका कितना गलत इस्तेमाल हो रहा है. तो इन्हें अगर डाटा की इतनी ही चिंता होती तो अब तक सरकार ने डाटा प्राइवेसी कानून पास कर दिया होता. इससे हमारे डाटा की सुरक्षा हो सकती है."

उन्होंने आगे कहा, "ये सरकार चाहती है कि लोग उनकी बात मानते रहें. मैं नही जानता की इन हरकतों के पीछे क्या सोच है. अगर उन्हें लगता है की इन चीजों पर थोड़ा मोड़ा जानकारी रखने वाले लोग इससे बेवकूफ बन जाएंगे, क्योंकि हमारे देश की बात नहीं मान रहे, इसलिए आप जो मर्जी करें और इन्हें बैन कर दें, तो ये चीन का मॉडल है. ये कहने में कोई शक नहीं होना चाहिए."

मेघनाद ने चर्चा में सबा को शामिल करते हुए इन्हीं मुद्दों पर सबा से टिप्पणी मांगी.

सबा कहती हैं, "जिस दौर से हम गुजर रहे हैं उसमें डेमोक्रेसी के बदौलत मजबूत नेता उभर कर सामने आ रहे हैं. ऑटोक्रेटिक लीडर डेमोक्रेसी से ही निकल रहे हैं. आज के दौर में रूस का भी ट्विटर के साथ झगड़ा हो रहा है. तो ये सब तानाशाही वाले कदम हैं.

आप हमारे यहां की सरकार को देख लीजिए. उनके अमित मालवीय ट्विटर पर कितनी बार झूठे ट्वीट करते पकड़े गए हैं. यह चाहते हैं उन्हें बस एक फ्री पास मिले. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब से पॉलिटिक्स में आए हैं, तब से लेकर अब तक उनके लिए मई से ज्यादा बुरा महीना नहीं गुजरा है. 2015 के दिल्ली के चुनाव में जो हार मिली उस पर इन्हें इतना ज्यादा फर्क नहीं पड़ा था. और दिल्ली वैसे भी छोटा राज्य है. साथ ही आपने देखा होगा जब ओबामा आए थे तो उन्होंने सूट पहना था जिसमें नरेंद्र मोदी नरेंद्र मोदी ही लिखा हुआ था. तो इन्हें उस हार से भी ज़्यादा फ़र्क़ नहीं पड़ा था.

लेकिन जो ये अभी बंगाल में हारे हैं, जहां प्रधानमंत्री से लेकर अमित शाह से लेकर सब बड़े बीजेपी के दिग्गज नेताओं ने रैलियां कीं, उसका इन पर बहुत गहरा प्रभाव पड़ा है. प्रधानमंत्री जो खुद को स्ट्रॉन्ग मैन, विश्वगुरु, स्पिरिचुअल गुरु और कई अलग-अलग तरीकों से अपनी छवि बनाने में आगे रहते हैं, मुझे लगता है उनके राजनीतिक जीवन की ये सबसे बड़ी हार है और उसका उन पर और उनकी पार्टी पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ा है."

इस विषय के अलावा अन्य विषयों पर भी विस्तार से चर्चा हुई. पूरी बातचीत सुनने के लिए यह पॉडकास्ट सुनें और न्यूज़लॉन्ड्री को सब्सक्राइब करना न भूलें.

0:15 - इंट्रो

04:01- हेडलाइन

06:48 - उमर खालिद की जमानत

10:32 - लक्षद्वीप विवाद

26:21 - ट्विटर को लेकर विवाद

1:00:46 - बाबा रामदेव को मानहानि नोटिस

1:10:06– सलाह और सुझाव

पत्रकारों की राय, क्या देखा, पढ़ा और सुना जाए.

सबा नक़वी

न्यूज़लॉन्ड्री की रिपोर्ट - सदगुरू का ईशा एम्पायर

नेटफ्लिक्स की सीरीज - डर्टी मनी

हॉटस्टार की सीरीज - मेअर ऑफ़ ईस्टटाउन

शार्दूल कात्यायन

न्यूज़लॉन्ड्री की रिपोर्ट - बस्तर में शांति के लिए आदिवासियों के साथ पदयात्रा

न्यूज़लॉन्ड्री पर दीक्षा मुंजाल की लक्षद्वीप पर रिपोर्ट

डीडब्ल्यू की रिपोर्ट - मैक्सिको में डायनासोर के नए फॉसिल

मेघनाथ एस

स्क्रॉल पर विजेता लालवानी की रिपोर्ट - सेंट्रल विस्टा पर काम कर रहे तीन वर्कर्स कोरोना से संक्रमित

नेटफ्लिक्स पर कोरियन ड्रामा सीरीज - विनसिनजो

बायो म्युटेंट गेम

क्लब हाउस ऐप

***

प्रोड्यूसर- लिपि वत्स और आदित्य वारियर

एडिटिंग - सतीश कुमार

ट्रांसक्राइब - अश्वनी कुमार सिंह

Also Read : झांसे वाले बाबा और बंगलुरु में दंगा
Also Read : बनाना रिपब्लिक में बाबा रामदेव की कोरोनिल
newslaundry logo

Pay to keep news free

Complaining about the media is easy and often justified. But hey, it’s the model that’s flawed.

You may also like