सारांश: अधर में असम

एक नजर अबतक के एनआरसी के सफर पर.

  • whatsapp
  • copy

असम में रहने वाले लगभग 40 लाख लोगों की नागरिकता पर इन दिनों तलवार लटक रही है. एनआरसी यानी नेशनल रजिस्टर ऑफ़ सिटीजन्स का अंतिम ड्राफ्ट जारी होने के बाद वहां के लोगों में असमंजस की स्थिति है. एनआरसी असम में रहने वाले भारतीय नागरिकों की एक सूची है. इसके आधार पर ही असम में लोगों की नागरिकता तय होनी है.

नागरिकता का मुद्दा असम में बीते कई दशकों से बेहद अहम भी रहा है और बेहद विवादास्पद भी. एनआरसी के बनने, संशोधित होने और इसके संभावित सफर पर एक नज़र.

newslaundry logo

Pay to keep news free

Complaining about the media is easy and often justified. But hey, it’s the model that’s flawed.

You may also like