सुदर्शन टीवी ने अब हल्दीराम के नमकीन पैकेट से छेड़ा हिंदू-मुस्लिम राग

बता दें कि यह पहला वाकया नहीं है जब सुदर्शन टीवी ने हिंदू-मुस्लिम एंगल निकाला है.

सुदर्शन टीवी ने अब हल्दीराम के नमकीन पैकेट से छेड़ा हिंदू-मुस्लिम राग
Kartik Kakar
  • whatsapp
  • copy

हिंदू-मुस्लिम कंटेंट और झूठी खबरें प्रसारित करने के लिए जाना जाने वाला सुदर्शन टीवी, अब एक बार फिर से चर्चा में है. चैनल ने हल्दीराम कंपनी के नमकीन पैकेट को लेकर हिंदू मुस्लिम का राग छेड़ दिया है.

चैनल की पत्रकार शिवानी ठाकुर नोएडा में स्थित हल्दीराम के एक स्टोर पर रिपोर्टिंग करने के लिए पहुंचीं. जहां वह कहती हैं कि ‘एक हिंदू’, सुदर्शन टीवी के ऑफिस में नवरात्रि के दौरान खाए जाने वाले नमकीन का पैकेट लेकर आए. उस ग्राहक ने बताया कि जो नमकीन उन्होंने व्रत के दौरान खाने के लिए खरीदा, उस पर उर्दू में नमकीन में क्या-क्या मिलाया गया है उसका विवरण दिया गया था. जबकि अन्य नमकीन के पैकेट पर सिर्फ अंग्रेजी में विवरण दिया हुआ है.

रिपोर्टर अपने सवाल को लेकर स्टोर में दाखिल हो गईं. जिसके बाद उन्होंने वही नमकीन का पैकेट खरीदा जिसको लेकर ‘एक हिंदू’ सुदर्शन टीवी के ऑफिस गया था. रिपोर्टर उस पैकेट पर उर्दू भाषा लिखे जाने को लेकर कर्मचारियों से भीड़ गईं. स्टोर में मौजूद एक कर्मचारी ने बिना परमिशन कैमरा ऑन किए जाने का विरोध किया. जिसके बाद रिपोर्टर स्टोर के अंदर ही रहीं और कैमरामैन बाहर से शूट कर रहा था.

रिपोर्टर के एक ही सवाल पर स्टोर की मैनेजर भड़ गईं और रिपोर्टर को बोल दिया कि, “अगर आप को यह पैकेट खरीदना है तो खरीदिए, नहीं तो छोड़ दीजिए”. इसके बाद रिपोर्टर कहती हैं, आप लोग जवाब नहीं देना चाहते हैं कि आखिर हिंदुओं के व्रत में खाए जाने वाले नमकीन के पैकेट पर उर्दू में क्यों लिखा है.

बता दें कि पैकेट पर उर्दू नहीं बल्कि अरबी भाषा में लिखा हुआ है. इसे खाड़ी के देशों में भी बेचने के लिए बनाया गया है.

पुलिस की मौजूदगी में रिपोर्टर बार-बार स्टोर मैनेजर से सवाल करती हैं. जिसके बाद मैनेजर गुस्से में आकर बोलती हैं कि आप माइक लेकर आ गईं तो इसका मतलब यह नहीं की आप कुछ भी करें. इसमें बहस जैसा कुछ नहीं है जो आप कर रही हैं.

यह मामला यहीं नहीं रूका. रिपोर्टर के बाद सुदर्शन टीवी के एडिटर सुरेश चव्हाणके ने भी इस मुद्दे पर एक वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट किया. इस वीडियो में वह “हिंदू के पर्व पर हल्दीराम कंपनी ने किया धोखा…” का आरोप लगाते हैं.

यह पूरा वाकया नोएडा के एक स्टोर का है. जिसे पुलिस की मौजूदगी में शूट किया गया. बता दें कि यह पहला वाकया नहीं है जब सुदर्शन टीवी ने हिंदू-मुस्लिम एंगल निकाला है.

Also see
नफ़रती महापंचायत के जाने पहचाने चेहरे और मूकदर्शक दिल्ली पुलिस
'रोजगार देने के बजाय, रोजगार छीन रहे हैं ये लोग': बिफरे मीट व्यवसाई

Comments

We take comments from subscribers only!  Subscribe now to post comments! 
Already a subscriber?  Login


You may also like